अधिकारियों-कर्मचारियों की ई०एस०एस० प्रोफाइल अद्यतन करवाने की अपील…..

-भोपाल : 19 सितम्बर वरिष्ठ कोषालय अधिकारी भोपाल ने बताया है कि आयुक्त कोष एवं लेखा मध्यप्रदेश भोपाल ने समस्त आहरण एवं संवितरण कार्यालयों में कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मचारियों के ई०एस०एस० प्रोफाइल अपडेशन का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर संपादित कराए जाने की अपील की है, जिसमें वरियता के आधार पर आगामी 6 माह में सेवा निवृत्त होने वाले कर्मचारियों की शत प्रतिशत प्रोफाईल अपडेशन का कार्य पूर्ण किया जाना है ।
उन्होंने समस्त विभाग प्रमुखों तथा आहरण एवं संवितरण अधिकारियों से कहा है कि 30 सितम्बर 2021 तक अपने कार्यालय अंतर्गत कार्यरत समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों का ई०एस०एस० प्रोफाईल सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर निर्धारित तिथि तक अनिवार्य रूप से अद्यतन कर लिया जाये जिससे वेतन माह सितम्बर-21 पेड इन अक्टूबर-21 की सेलेरी के साथ जिला कोषालय अधिकारी को इस आशय का प्रमाण-पत्र भी उपलब्ध कराना होगा कि उनके अधीनस्थ कार्यरत समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों का ई०एस०एस० प्रोफाईल अद्यतन कर लिया गया है।

👉👉सोसाइटीज का रजिस्ट्रेशन अब ऑनलाइन

भोपाल : 19 सितम्बर उपायुक्त सहकारी संस्थाएं भोपाल ने बताया है कि जिले में सहकारी समितियों का पंजीयन अब केवल ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा किया जाएगा । ऑनलाइन प्रक्रिया से समितियों का पंजीयन करवाने हेतु संबंधित व्यक्तियों को कार्यालय आने की आवश्यकता नहीं है।उपायुक्त सहकारिता ने बताया कि समितियों के पंजीयन हेतु विभागीय ऑनलाईन पोर्टल http:icmis.mp.gov.in पर जाकर 21 व्यक्ति मिलकर सहकारी समिति का गठन कर सकते हैं। पोर्टल पर नवीन संस्था का आवेदन करने हेतु आवेदक उल्लेखित लिंक पर जाकर स्वयं एमपी ऑनलाईन नागरिक सुविधा केन्द्र के माध्यम से आवेदन कर सकता है। आवेदक को पोर्टल पर अपना लॉग इन क्रिएट करना होगा। लॉग इन क्रिएट करने हेतु आधार से लिंक मोबाईल नंबर प्रविष्टि कर ओटीपी सत्यापन होगा। प्रस्तावित संस्था की जानकारी एवं प्रथम आवेदन की जानकारी भरकर पासवर्ड निर्मित करेगा। तत्पश्चात आवेदक का लॉगिन निर्मित हो जायेगा। अंशपूंजी का मूल्य दर्ज करके प्रस्तावित सदस्यों के फोटो एवं हस्ताक्षर अपलोड कर तदर्थ कमेटी नामांकित कर दस्तावेज अपलोड कर अंशों का मूल्य एवं सदस्यता प्रवेश शुल्क का ऑनलाईन भुगतान करेगा। आधार नंबर से वर्चुएल आईडी जनरेट होगा और आवेदक का ई-साईन कर आवेदन ऑनलाईन जमा करना होगा ।
विभाग द्वारा आवेदन प्राप्त होने पर अधिकतम 45 दिवस के भीतर आवेदन पर कार्यवाही की जायेगी। कुछ कमियां होने पर पोर्टल पर दर्ज किया जायेगा। जिसकी सूचना एसएमएस से दी जायेगी। पंजीयन पोर्टल पर आवेदन मान्य होने पर पोर्टल से ही पंजीयन प्रमाण-पत्र जनरेट होगा । जिसमें डिजिटल हस्ताक्षर रहेंगे।

👉👉वृत्तिकर जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितम्बर

भोपाल : 19 सितम्बर मध्यप्रदेश वृत्तिकर संशोधन अधिनियम 2018 के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिये वृत्तिकर जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितम्बर 2021 है। जिला वाणिज्यकर अधिकारी ने बताया है कि जीएसटी में पंजीयत व्यवसाई, निजी विद्यालय/महाविद्यालय, कम्प्यूटर सेंटर, चिकित्सक, चिकित्सा व्यवसायी, सीए, वकील, बीमा अभिकर्ता, बीमा कम्पनी, फाईनेंस बैंक/कम्पनी, मदिरा दुकान संचालक, चिटफण्ड संचालित वाली संस्थायें या व्यक्ति, सहकारी सोसाईटी, ट्रांसपोर्टर, कोचिंग संस्थान, निजी चिकित्सालय, निजी जीएनएम, लेबटेक्नीशीयन, फर्मासिस्ट, एक्सरे ट्रेनिंग सेंटर, जिमसेंटर, धर्मकाटा, होटल, लॉज, विवाह मंडप, टेंट शामयाना, केवल ऑपरेटर, वीडियो पार्लर, ब्यूटी पार्लर, फाइनेंस कम्पनी, क्लीनिक, लैब पेथोलॉजी, नर्सिंग होम, क्योस्क सेंटर, फैशन डिजाईनर, बुटीक आदि उक्त तिथि तक अनिवार्यत: वृत्तिकर जमा करायें जिससे बिलंब से लगने वाली शास्ति व वसूली की कार्यवाही से बचा जा सके।

👉👉कक्षा एक से पांचवी तक के स्कूल कल से खुलेंगे

भोपाल : 19 सितम्बर सोमवार 20 सितम्बर से भोपाल जिले में शासकीय और अशासकीय शालाओं में प्राथमिक कक्षाएं यानि पहली से पाचवीं तक की कक्षाएं कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए 50 प्रतिशत क्षमता के साथ प्रारंभ होंगी।जिला शिक्षा अधिकारी भोपाल ने बताया कि स्कूलों में कक्षा 01 से 5वीं प्राथमिक स्तर की कक्षाएं कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुए 50 प्रतिशत क्षमता के साथ प्रारंभ की जाएगी। कक्षा 8वीं, 10वीं एवं 12वीं के शत-प्रतिशत विद्यार्थियों के लिए छात्रावास संचालित किये जाएगे। कक्षा 11वीं के विद्यार्थियों को भी छात्रावास की सुविधा इस शर्त के आधार पर उपलब्ध कराई जाएगी कि छात्रावास में उसकी कुल क्षमता के 50 प्रतिशत क्षमता से ज्यादा विद्यार्थी उपस्थित नहीं होना चाहिए ।
संचालित समस्त आवासीय विद्यालय कक्षा 08 वीं, 10वीं एवं 12वीं के लिए शत-प्रतिशत विद्यार्थियों के लिए संचालित किए जाएगे। कक्षा 11वीं के विद्यार्थियों के लिए भी स्कूल एवं छात्रावास खोले जाएगे किन्तु इस शर्त के आधार पर कि छात्रावास में उसकी कुल क्षमता के 50 प्रतिशत क्षमता से ज्यादा विद्यार्थी उपस्थित नहीं होना चाहिए। जिला अंतर्गत संचालित स्कूलों, छात्रावासों, आवासीय विद्यालयों को खोले जाने के प्रस्ताव पर जिला आपदा प्रबंधन समिति से सहमति ली जाएगी। अभिभावकों की सहमति से ही विद्यार्थी विद्यालय, छात्रावास में उपस्थित हो सकेंगे। स्कूलों में भारत सरकार, राज्य स्तर से समय-समय पर जारी कोविड प्रोटोकाल का पालन किया जाना अनिवार्य होगा।

👉👉बारिश में होने वाली संक्रामक बीमारियों से बचाव के लिये एडवाईजरी

भोपाल : 19 सितम्बर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी ने एडवाईजरी में कहा है कि बरसात में अक्सर दस्त, उल्टी, बुखार, आव, पेट दर्द, पेचिस, पीलिया, टाइफाइड, डायरिया जैसी बीमारियाँ होती हैं। बीमारियों से सावधान रहें, बीमार न हों इसके उपाय करें एवं स्वस्थ रहें। उन्होंने बताया कि उल्टी, दस्त, पेचिस, आव, संक्रामक बीमारी से बचने के लिए ताजा भोजन का सेवन करें। शुद्ध पानी पिंए (उबला पानी, आरो का पानी, फिल्टर, हैण्डपंप का पानी छानकर पिएं) कुएं, नदी, नाला का पानी न पिएं, पानी क्लोरीनेशन करके ही पानी पिएं, सड़ी-गली सब्जी, फल, बासी खाना न खाएं, मांस का बरसात के दिनों में सेवन न करें। व्यक्तिगत स्वच्छता रखें, खाने के चीजों को छूने से पहले साबुन से अच्छी तरह हाथ धोंएं, संक्रमित चीजों को छूने के बाद साबुन से अच्छी तरह हाथ धोऐं, भोजन खाने के पहले या शौच के बाद हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोंऐं, स्वच्छ शौचालय का उपयोग करें। उन्होंने कहा कि उपचार के लिए डॉक्टर के परामर्श से उल्टी, दस्त के लिए टेबलेट फ्युराजोलाडिन, मेट्रोजिन डायक्लोमिन, मेट्रोक्लोरापामाइड, जिंक, ओ.आर.एस. का घोल, खीरा, दही, सिकंजी, चावल का पानी (माड) तथा तरल पदार्थ अधिक मात्रा में सेवन करें। इसी प्रकार दस्त से संबंधित संक्रामक बीमारी होने पर नजदीकी अस्पताल जायें, ग्राम स्तर में आशा कार्यकर्ता डीपो होल्डर के माध्यम से जीवन रक्षक दवाइयां प्राप्त करें।मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने जनसमुदाय को एडवाइजरी में कहा है कि बरसात के दिनों में वेक्टर जनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, फायलेरिया (हाथी पांव) जैसे गंभीर बीमारी होती हैं। गंदा पानी, नाली, गड्ढों में पानी एकत्रित होने से मच्छर के लार्वा से अण्डें पनपते हैं। मादा एनाफिलिस मच्छर के काटने से मलेरिया होता है। डेंगू का लार्वा साफ पानी में पैदा होता है जैसे कूलर, टूटे हुए टायर, टंकी में एडीज मच्छर के लार्वा पनपते हैं। एडीज मच्छर के काटने से डेंगू होता है। चिकुनगुनिया का वायरस सीधे हड्डी पर अटैक करता है जिससे असहनीय दर्द होता है। मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया, फायलेरिया से बचने के लिए घर के आस-पास सफाई रखें, पानी इक्ट्ठा न होने दें, गड्ढों को भरें, टायर, कबाड़ सामान ढंक्कर रखें, इनमें पानी इकट्ठा नहीं होने दें, कूलर व टंकी के पानी को एक सप्ताह में खाली करें, नीम का धुआँ करें, शाम के समय खिड़की दरवाजा बंद रखें, रात्रि में सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। पूरी आस्तीन के कपडे़ पहनें। मच्छर भगाने वाले साधन जैसे- क्रीम, क्वाइल, रिपेलेन्ट इत्यादि का उपयोग करें। टायर, कबाड़ सामान ढंक्कर रखें इनमें पानी इकट्ठा नहीं होने दें। बुखार आने पर तत्काल स्वास्थ्य केन्द्र में जांच कराये। बुखार आने पर नजदीकी अस्पताल जाकर खून की जांच कारायें एवं ग्रामीण क्षेत्र में आशा कार्यकर्ता के पास जाकर खून की जांच करायें और दवायें प्राप्त करें।

👉👉बैरसिया में कल कृत्रिम अंग वितरण शिविर

चिकित्सकों को किया तैनात

भोपाल : 19 सितम्बर मुख्य एवं भोपाल के स्वास्थ्य अधिकारी, भोपाल डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया है कि 20 सितम्बर 2021 को प्रातः से बैरसिया में आयोजित कृत्रिम अंग वितरण, दिव्यांग शिविर के लिये मेडिकल बोर्ड में अधिकारी, कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई हैं।जारी आदेश अनुसार अस्थिरोग विशेषज्ञ बोर्ड अध्यक्ष , जयप्रकाश चिकित्सालय भोपाल के डॉ. रामकुमार श्रीवास्तव, मनोरोग विशेषज्ञ, जयप्रकाश चिकित्सालय भोपाल डॉ.राजेन्द्र वैरागी, पी.जी.एम. ओ. नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. नीलू गुप्ता, विकलांग फार्म, सील श्री योगराज रावते आदि सामग्री के साथ उपस्थित रहेंगे।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने समस्त अधिकारी, कर्मचारी से प्रातः से कार्यालय में उपस्थित रहने के निर्देश दिए हैं ।

About rakshashuklabhopal

View all posts by rakshashuklabhopal →

Leave a Reply