आँगनवाड़ी केंद्रों को सक्षम बनाने, आमजन को प्रेरित करें मंत्रीगण : मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रि-परिषद की बैठक से पहले मुख्यमंत्री श्री चौहान का संबोधन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि “एडाप्ट एन आँगनवाड़ी” अभियान को नया स्वरूप देने में यह पवित्र उद्देश्य शामिल है कि हमारे बच्चे स्वस्थ और पोषित हों। सिर्फ प्रशासकीय तंत्र से यह उद्देश्य पूरा नहीं हो सकता। अभियान की सफलता के लिए जन-भागीदारी आवश्यक है। प्रदेश में करीब 97 हजार आँगनवाड़ियाँ हैं। इन्हें बेहतर बनाने के लिए जनता का जुड़ना आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज मंत्रालय में मंत्रि-परिषद की बैठक प्रारंभ होने से पहले मंत्रीगण को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आमजन को आँगनवाड़ी केंद्रों को सुविधायुक्त बनाने के लिए प्रेरित किया जाए। इस कार्य में मंत्रीगण अपने प्रभार के जिलों और गृह जिलों में प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शासन स्तर पर आगामी सप्ताह की प्रस्तावित गतिविधियों से भी अवगत करवाया।

बच्चों के स्वास्थ्य,शिक्षा और संस्कार के लिए बनाये आँगनवाड़ियों को महत्वपूर्ण केंद्र

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आँगनवाड़ी केन्द्र सिर्फ पौष्टिक खाद्य सामग्री के वितरण का केंद्र नहीं हैं। ये बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य, शिक्षा और संस्कार देने के केंद्र भी हैं। यहाँ खेल गतिविधियों के लिए भी सहयोग दिया जा सकता है। टीवी सेट,वाटर कूलर, ज्ञानवर्धक पुस्तकें, स्टेशनरी और खिलौने आदि का सहयोग भी आमजन और समर्थ लोगों से मिल सकता है। हम संकल्प लेकर आँगनवाड़ी केंद्रों को अनाज और अन्य पौष्टिक खाद्य सामग्री प्रदाय करें तो कोई भी बच्चा कुपोषित नहीं रहेगा। अपने क्षेत्र और वार्ड की आँगनवाड़ी के बच्चे को अंडरवेट की श्रेणी से निकालकर स्वस्थ बनाने में अपने सामाजिक दायित्व का निर्वाह कर सकते हैं। परिवारों द्वारा बच्चों के जन्म-दिन और परिवार के दिवंगत सदस्यों की पुण्य-स्मृति में उनकी जयंती और पुण्य-तिथि पर आँगनवाड़ियों को आवश्यक सहयोग दिया जा सकता है। केंद्र के भवन निर्माण के लिए भी सहयोग दे सकते हैं। अगर जनता इस कार्य से जुड़ जाएगी तो एक साल में ही चमत्कारिक परिणाम मिल सकते हैं।

आगामी सप्ताह की प्रमुख गतिविधियाँ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आँगनवाड़ी केंद्रों के लिए खिलौने और अन्य सामग्री जुटाने का अभियान प्रारंभ किया गया है। उन्होंने बताया कि वे 27 मई की शाम को चौपाल में नागरिकों से संवाद का कार्यक्रम निर्धारित कर रहे हैं। संवाद में विशेष रूप से ग्रामीणों से चर्चा होगी। प्रदेश में समरस पंचायतों को विशेष सुविधाएँ देने पर भी चर्चा होगी। समरस पंचायतों को ग्राम विकास के प्रावधानों और दी जाने वाली सुविधाओं एवं वित्तीय संसाधनों के बारे में बताया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना से संबंधित कार्यक्रम भी 28 मई को करने का विचार है। उन्होंने कहा कि इसी दिन राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद भी मध्यप्रदेश प्रवास पर आ रहे हैं। वे भोपाल में स्वास्थ्य संस्थाओं के शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल होंगे। मंत्रीगण इस कार्यक्रम से वर्चुअली भी जुड़ सकते हैं। राष्ट्रपति श्री कोविंद 29 मई की प्रात: भोपाल से उज्जैन जाएंगे और अखिल भारतीय आयुर्वेद सम्मेलन को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 31 मई को शिमला से हितग्राहियों से वर्चुअली जुड़ेंगे और उनसे गरीब कल्याण एवं हितग्राही मूलक 13 महत्वपूर्ण योजना के बारे में संवाद करेंगे। भोपाल में यह कार्यक्रम कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कनवेशन सेंटर में प्रात: 10 बजे प्रारंभ होगा। प्रधानमंत्री श्री मोदी 11 बजे कार्यक्रम से जुड़ेंगे और हितग्राहियों से चर्चा कर कार्यक्रम को संबोधित भी करेंगे।

Leave a Reply