उज्जैन नागदा केमिकल फैक्ट्री में बड़ी दुर्घटना

ग्रेसिम केमिकल डिवीजन उद्योग में गंभीर दुर्घटना 12 फीट उचाई से गिरा एक मजदूर ,इंदौर रैफरनागदा/ उज्जैन 26 मार्च, हिंस। जिले के नागदा में संचालित ग्रेसिम केमिकल डिवजीन उद्योग में शुक्रवार दोपहर 3.30 बजे हुई एक गंभीर दुर्घटना ने एक बार फिर प्रबंधन के शून्य दुर्घटना के नारे की पोल खोली है। उद्योग न्यु कास्टिक सोड़ा प्लांट का जर्जर प्लेटफार्म गिर गया। जिसके उपर खड़ा एक ठेका मजदूर गंभीर घायल हुआ। घायल की गंभीर अवस्था को देखते हुए उसे इंदौर रेफर कर दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार मजदूर गोवर्धन पिता नानुराम उम्र 55 वर्ष तकरीबन 12 फीट उंचे प्लेटफार्म की प्लेट समेत नीचे गिरा है। जिसके सिर में गंभीर चोट आई है। जिम्मेदार अधिकारी ने की पुष्टि

संयोग थाकि औद्योगिक स्वाथ्य एवं सुरक्षा विभाग की टीम भी किसी मामले में जांंच के लिए उद्योग में पहुंची थी उस दरमियान यह हादसा हुआ। बताया जा रहा हैकि घायल मजदूर भाजपा के एक नेता के ठेके में कार्यरत था
प्रबंधन बात से कराया
दुर्घटना के बारे में उद्योग प्रबंधन डा. अनिल कामरिया से दूरभाष पर प्रयास किया तो वे बात करने से कतराए। बार -बार फोन करने के बाद वे जवाब देते रहे इस वक्त प्लांट में आवाज नहीं सुनाई दे रही है। ये अधिकारी बार-बार प्लांट में रहने का राग अलापते रहते हैं। मजदूर नेता ने उठाई आवाज

ग्रेसिम क्रंातिकारी कर्मचारी यूनियन के नेता भवानीसिंह शेखावत से इस घटना के बारे में संपर्क करने पर सीउन्होंने बताया प्रबंधन की लापरवाही का परिणाम है। उद्योग के अधिकांश प्लेटफार्म सड़ चुके हैं। प्रबंधन इनकी मरम्मत नहीं करा रहा है। राशि बचाने के लिए प्रबंधन मजदूरों की जान का दुश्मन बन गया है।
मजदूर की जान पर सदैव खतरा बना रहता है। ऐसे प्रबंधन के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जाना चाहिए। अन्यथा क्या कारण है कि प्लेटफार्म की प्लेट समेत उस पर खड़ा मजदूर नीचे टपक गया।
नागदा से राजेश इन्द्र की रिपोर्ट

Leave a Reply