उपयोग बिना बर्बाद हो रहे लाखों से बने भवन

शासन की राशि का दुरूपयोग हो रहा है।

छिंदवाड़ा. चौरई . मप्र शासन के जलसंसाधन विभाग द्वारा द्वारा पेंच परियोजना से जुड़े कामों और परियोजना के क्रियान्वयन के लिए बांध स्थल से कुछ दूरी पर ग्राम सिंगना में लाखों रु की लागत से अधिकारी कर्मचारियों के आवासीय कॉलोनी और कार्यालय भवन का निर्माण कराया गया था। लाखों की लागत से बने भवनों का उपयोग नही होने से ये बर्बाद हो रहे हैं इन भवनों में रहने के लिए अधिकारी कर्मचारी रुचि नहीं दिखा रहे है। यह कार्य जिला मुख्यालय से अप डाउन करने में चल रहा है ऐसे में शासन द्वारा खर्च किए लाखों रुपए व्यर्थ हो रहा है। इस परिसर में आवास के साथ-साथ कार्यालय भवन का भी निर्माण कराया गया था किन्तु आज तक यहां कोई कार्यालय संचालित नहीं हो पाया शासन की राशि का दुरूपयोग हो रहा है।
चौरई नगर में चांद रोड पर जल संसाधन विभाग का कार्यालय स्थित है इसी परिसर में कर्मचारी अधिकारी निवास की कॉलोनी भी है। यहां ज्यादातर आवास खाली पड़े हैं अधिकारी अपडाउन कर रहे हैं जिससे भवनों का रखरखाव भी नहीं हो पा रहा है। साथ ही सरकारी वाहनों से अपडाउन में सरकारी खजाने से रोजाना डीजल भी बर्बाद हो रहा है। लोगों को कहना है कि इस ओर जिला प्रशासन को ध्यान देकर सख्त कार्रवाई करना चाहिए जिससे भवनों का सदुपयोग हो सके।
वहीं इधर बुधवार को ग्राम की बिजली व्यवस्था में फाल्ट हो गया। इसे सुधारने के लिए बिजली कर्मचारी परेशान होते रहे और गुरुवार को काफी मशक्कत के बाद व्यवस्था सुधरी । तीन -तीन कर्मचारी फाल्ट ढूढते रहे और खेत से बिजली के तार गुजरे वहां पर फाल्ट सुधारा गया।

,

Leave a Reply