करीला धाम को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने

करीला धाम को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने

सांसद ने जिला अधिकारियों एवं ट्रस्ट अध्यक्ष के साथ बैठक ली

क्षेत्रीय सांसद डॉ.के.पी.यादव द्वारा क्षेत्र विकास एवं संसदीय क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किये जाने एवं राष्ट्रीय स्‍तर पर पहचान दिलाने हेतु अथक प्रयास किये जा रहे हैं। क्षेत्र विकास हेतु विकास की संभावनाओं को दृष्टिगत रखते हुए सांसद द्वारा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं श्रीमति ऊषा ठाकुर मंत्री पर्यटन एवं आध्यामिक विभाग म.प्र. शासन को अशोकनगर जिले के प्रसिद्ध तीर्थ स्‍थल माता करीला धाम स्थित मां जानकी मंदिर के जीर्णोद्धार एवं हनुमान टेकरी के निर्माण एवं करीला धाम को पर्यटन के दृष्टिकोण से विकसित करने हेतु प्रस्ताव भेजा गया था। प्रस्‍ताव स्वीकृत कर कलेक्टर अशोकनगर को संबंधित कार्य का निरीक्षण करने एवं प्राक्रलन तैयार कर भेजने हेतु लिखा गया था। जिसके संबंध में करीला धाम स्थित रेस्ट हाउस में सासंद डॉ. के.पी. यादव द्वारा बैठक ली गई। बैठक में जिला वनमण्‍डल अधिकारी श्री अंकित पांडे, अपर कलेक्टर डॉ. अनुज रोहतगी, एसडीएम श्री राहुल गुप्‍ता, करीला धाम ट्रस्ट के अध्‍यक्ष श्री महेन्‍द्र यादव, जिला अधिकारी , तहसीलदार तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में 110 फीट ऊंची हनुमान जी की प्रतिमा स्थापना तथा राई नृत्‍य हेतु स्‍टेडियम निर्माण कराने हेतु चर्चा की गई। करीला धाम ट्रस्‍ट अध्यक्ष महेन्द्र यादव द्वारा सभी अधिकारियों को प्रतिमा स्थल एवं क्षेत्र की जानकारी प्रदान की। वनमण्‍डल अधिकारी द्वारा वन क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने हेतु निर्देशित किया गया। सांसद द्वारा बताया गया कि करीला धाम पर स्थाई उप स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र, पुलिस चौकी निर्माण तथा राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा और एटीएम खोलने हेतु संबंधित केन्द्रीय मंत्री तथा मुख्‍यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से निवेदन किया गया है। जिससे श्रद्धालुओं और क्षेत्रवासियों को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने यह भी बताया कि क्षेत्र को राष्ट्रीय स्‍तर पर पर्यटन की दृष्टि से पहचान देने के लिए प्रयासरत रहे हैं। उन्‍होंने इस अवसर पर हनुमान जी की प्रतिमा स्‍थापना तथा राई नृत्‍य हेतु स्‍टेडियम निर्माण कराए जाने हेतु भूमि चयन का निरीक्षण किया।

Leave a Reply