छोटी उम्र में ही छात्र में राष्ट्र हित के मुद्दों की समझ से प्रभावित हुए प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश की युवा पीढ़ी, विशेषकर छात्र-छात्राओं से समय-समय पर संवाद स्थापित कर उनका मनोबल बढ़ाते रहते हैं। मन की बात हो, परीक्षा पर चर्चा हो या फिर व्यक्तिगत संवाद हो, प्रधानमंत्री मोदी ने हमेशा ही विभिन्न माध्यमों से युवाओं की उलझनों, उनकी जिज्ञासाओं को समझकर उन्हें प्रोत्साहित किया है। इसी क्रम में एक बार फिर प्रधानमंत्री ने देहरादून के 11वीं के छात्र अनुराग रमोला के पत्र का जवाब देते हुए उनकी कला और उनके विचारों को सराहा है।

अनुराग के विचारों से प्रभावित होकर प्रधानमंत्री ने पत्र में लिखा है “पत्र में आपके शब्दों और पेंटिंग के लिए चुने गए विषय ‘भारत की आजादी का अमृत महोत्सव’ से आपकी वैचारिक परिपक्वता का आभास होता है। मुझे खुशी है कि किशोरावस्था से ही आपमें राष्ट्र हित से जुड़े मुद्दों की समझ विकसित हुई है और एक जिम्मेदार नागरिक के तौर पर देश के विकास में आप अपनी भूमिका को लेकर सजग हैं।”

इस पत्र में प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में समस्त देशवासियों के योगदान को सराहते हुए लिखा है, “आजादी के अमृत काल खंड में देश सामूहिकता की शक्ति के साथ ‘सबका प्रयास’ के मंत्र को लेकर आगे बढ़ रहा है। आने वाले वर्षों में एक सशक्त और समृद्ध भारत के निर्माण में हमारी युवा पीढ़ी का योगदान अहम् रहने वाला है।”

साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने अनुराग को सफल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए विश्वास जताया है कि वह जीवन में इसी तरह रचनात्मकता के साथ आगे बढ़ते रहें और सफलता की सीढ़ियां चढ़ते जाएं।

अनुराग की हौसला अफजाई के लिए उनकी इस पेंटिंग को नरेन्द्र मोदी ऐप और narendramodi.in की वेबसाइट पर भी अपलोड किया गया है।

 

 

गौरतलब है कि इससे पहले अनुराग ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राष्ट्र हित से जुड़े विषयों पर अपने विचारों से उन्हें अवगत कराया था। इस पत्र में अनुराग ने प्रधानमंत्री को अपना प्रेरणास्त्रोत बताते हुए कहा था कि विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्य नहीं खोना, पूरी मेहनत और ईमानदारी से अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ना और सबको साथ लेकर चलने की सीख उन्हें प्रधानमंत्री से मिलती है।

नोट- अनुराग रमोला को कला एवं संस्कृति के लिए 2021 के प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

 

Leave a Reply