जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022: साहित्य के महाकुंभ की महफिल में काव्य के रंगों की बारिश

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022: साहित्य के महाकुंभ की महफिल में काव्य के रंगों की बारिश

मशहूर जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का 15वां संस्करण बीते 5 मार्च से शुरु हो चुका है, जो 14 मार्च तक इस साहित्य की महफिल में काव्य के विभिन्न रंगों की बारिश करेगा। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल की धमाकेदार शुरुआत वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर हुई है। 10 दिनों तक चलने वाले इस आयोजन में इस बार खासकर पर्यावरण पर आधारित कई सत्र देखने को मिलेंगे, जिसमें जलवायु संकट में मानव की भूमिका पर चर्चा प्रमुख विषय है।

कला, संस्कृति और साहित्य का अभिन्न भाग कविता या काव्य है और विस्तृत सन्दर्भ में देखें तो काव्य किसी सभ्यता की विरासत को दर्शाता है। हाइब`रिड अवतार (ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों) में आयोजित हो रहे, जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022 में समकालीन जगत के कई लोकप्रिय कवि भाग ले रहे हैं। फेस्टिवल मे…
[4:16 PM, 3/9/2022] Aarti Varma PR: जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022: साहित्य के महाकुंभ की महफिल में काव्य के रंगों की बारिश

मशहूर जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का 15वां संस्करण बीते 5 मार्च से शुरु हो चुका है, जो 14 मार्च तक इस साहित्य की महफिल में काव्य के विभिन्न रंगों की बारिश करेगा। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल की धमाकेदार शुरुआत वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर हुई है। 10 दिनों तक चलने वाले इस आयोजन में इस बार खासकर पर्यावरण पर आधारित कई सत्र देखने को मिलेंगे, जिसमें जलवायु संकट में मानव की भूमिका पर चर्चा प्रमुख विषय है।

कला, संस्कृति और साहित्य का अभिन्न भाग कविता या काव्य है और विस्तृत सन्दर्भ में देखें तो काव्य किसी सभ्यता की विरासत को दर्शाता है। हाइब`रिड अवतार (ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों) में आयोजित हो रहे, जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022 में समकालीन जगत के कई लोकप्रिय कवि भाग ले रहे हैं। फेस्टिवल में ऐसे कई सत्रों का आयोजन होगा, जिनमें काव्य के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा होगी। इसकी विस्तृत जानकारी देते हुए जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ने देश के पहले बहुभाषी माइक्रो-ब्लॉगिंग मंच कू ऐप के अपने आधिकारिक हैंडल से कई पोस्ट्स किए हैं, जिनमें कहा गया है:

‘पृथ्वी पर सबसे महान साहित्यिक शो’ और ‘साहित्य के कुंभ’ के रूप में वर्णित, जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल विचारों का एक शानदार उत्सव है।

इंतजार की घड़ियाँ खत्म होने को है। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का 15वां संस्करण अब शुरू हो रहा है!
एक अन्य पोस्ट के माध्यम से जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ने सोशल मीडिया कू पर पोस्ट करते हुए इस महोत्सव के आगाज़ से समापन की तारीखों का उल्लेख किया है:

15वां जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल गुलाबी शहर में अपने नवीनतम अवतार में वापस आ जाएगा, जिसमें 10 से 14 मार्च तक जयपुर के होटल क्लार्क्स आमेर में अपने विशिष्ट ऑन-ग्राउंड इमर्सिव अनुभव के जादू के साथ-साथ 5 तारीख से एक पूर्ण आभासी कार्यक्रम होगा। – 14 मार्च।
काव्य से संबंधित सत्र के बारे में जानकारी देते हुए जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ने अपनी एक अन्य कू पोस्ट में कहा है:

सिनेमा में गीत गाता हूँ मुख्य गीत, लिरिक्स और कविता पर राज शेखर की अनु सिंह चौधरी के साथ बातचीत
एक अन्य कू पोस्ट के माध्यम से जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ने कहा है:

मेघना पंत के साथ एक सत्र में, प्रसिद्ध भारतीय अभिनेत्री, लेखिका और दिग्गज हस्ती सोनाली बेंद्रे बहल ने पुस्तकों की शक्ति पर चर्चा की।
एक सत्र में विभिन्न भाषाओं में बातचीत की जानकारी देते हुए जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ने सोशल मीडिया ऐप कू पर कहा है:

संस्कृत, फारसी, हिंदी जैसी भाषाओं में अलका पांडे और प्राकृत बलराम शुक्ला की बातचीत।
प्रतिष्ठित जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल ने इस वर्ष फिर से गुलाबी नगरी में वापसी की है, लेकिन इस बार यह अपने हाइब्रिड अवतार में आया है। यानी फेस्टिवल ऑनलाइन और ऑफलाइन, दोनों ही रूपों में श्रोताओं के लिए मौजूद रहेगा। हाइब्रिड अवतार में यह ज्यादा से ज्यादा श्रोताओं और साहित्य प्रेमियों तक पहुँच बना पाएगा, जहाँ देश की कोई सीमा नहीं होगी। साहित्य, विचारों और सौहार्द्र की ऐसी प्रभावशाली प्रस्तुति अब तक देखने को नहीं मिली होगी। पायनियरिंग परफॉर्मिंग आर्ट्स और टीमवर्क आर्ट्स द्वारा प्रस्तुत फेस्टिवल में पाठन और संवाद के कई सत्र होंगे।

बीते 15 साल से जयपुर शहर में अपनी भव्य उपस्थिति दर्ज करवाने वाले जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल से पर्यटन और रोजगार के अवसरों में विशेष बढ़ोतरी हुई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट 2022-23 में पर्यटन को उद्योग का दर्जा देने की घोषणा की है। यह घोषणा पर्यटन के क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा करेगी।

जेएलएफ के आयोजन से प्रदेश में प्रत्यक्ष तौर पर होटल इंडस्ट्री, परिवहन, एयरलाइंस जैसे क्षेत्रों में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। साथ ही अप्रत्यक्ष रूप से कपड़े, ज्वेलरी, हस्तशिल्प, रेस्तरां व अन्य व्यवसायों में भी खासी बढ़ोतरी लक्षित होगी।

Leave a Reply