झिंझरी जेल में बंदी मातृशक्तियों को उत्साहित करते हुए समाजसेवी व अधिवक्ता रेखा अंजू तिवारी ने कहा कि,

झिंझरी जेल में बंदी मातृशक्तियों को उत्साहित करते हुए समाजसेवी व अधिवक्ता रेखा अंजू तिवारी ने कहा कि, यह जेल नहीं एक गुरुकुल विद्यालय है, आप सभी आत्म चिंतन करें और अपने विकास के द्वार स्वयं खोलें,,,,,, *,,,,,,,,,,,, ,,,,,कटनी जिले की अग्रणी सामाजिक संस्था सर्वधर्म जनसेवा मंच समिति द्वारा लगातार विभिन्न क्षेत्रों में जाकर लोगों को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करने हेतु प्रेरित किया जा रहा है इसी संदर्भ में भाईयों की कलाइयों पर सजे बहनों का पावन पर्व रक्षाबंधन पर्व के अवसर पर अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज एवं सर्वधर्म जनसेवा मंच समिति की प्रांतीय अध्यक्ष व समाजसेवी अधिवक्ता श्रीमती रेखा अंजू तिवारी के नेतृत्व में कार्यक्रम आयोजित किया गया कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य झिंझरी जेल में बंदी मातृशक्तियों को उत्साहित करते हुए उनके बीच आपसी सद्भावनाएं, आपसी मिलन, समरसता ,मानवता जनहित में खुशियों को बांटा और त्यौहार संबंधी सामग्री प्रदान की कार्यक्रम में मुख्य अतिथि झिंझरी जेल अधीक्षक श्री मति लीना कोष्टा व कार्यक्रम की अध्यक्षता जेलर अरविंद खरे ने की विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ समाजसेवी श्री मति मनोरमा पाठक, सुश्री लता खरे, श्रीमती ममता गर्ग, सुश्री अंकिता झारिया सहित सभी मचांसीन अतिथियों ने सर्वप्रथम मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम प्रारंभ किया कार्यक्रम में मुख्य अतिथियों का स्वागत संस्था के पदाधिकारियों द्वारा रोली तिलक व बैंच एवं कलाइयों पर रेशमी धागा बांध कर सम्मानित किया गया उक्त कार्यक्रम में समाजसेवी व अधिवक्ता श्रीमती रेखा अंजू तिवारी ने बंदी मातृशक्तियों को उत्साहित करते हुए कहा कि अधिकांश लोग आपसी मतभेद के चलते यहां पर आये हैं आपके मतभेदों का असर इन नन्हें मासूम बच्ची को भी भोगना पड़ रहा है,,, गुनाहगार आप लोग हैं और सजा बच्चियों को मिल रही हैं आज आप सभी ऐसा संकल्प लीजिए कि हम दुबारा यहां कभी नहीं आयेंगे और यहां से बाहर निकल कर अपने अपने जीवन के विकास के द्वार स्वयं खोलेंगे और दूसरों को जागरूक अवश्य ही करेंगे ,, इस दौरान अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज एवं सर्वधर्म जनसेवा मंच समिति की प्रांतीय अध्यक्ष व समाजसेवी अधिवक्ता रेखा तिवारी एवं समस्त पदाधिकारियों द्वारा बंदी मातृशक्तियों को आने वाला भाई-बहन का पावन पर्व पर,, उन्हें राखी, रूमाल चूड़ियां बिंदी मेहंदी आलता मिठाई कपड़े एवं नन्हे बच्चों को उत्साहित करते हुए उन्हें भी नये कपड़े देकर खुशियां मनाईं गई,, * सर्वधर्म समभाव समरसता द्वारा किए जा रहे कार्यों हेतु सेवाभावी जिला प्रहरी रोहित मिश्रा द्वारा संस्था को 501 सहयोग राशि प्रदान कर संस्था के सभी पदाधिकारियों का हौसला बढ़ाया* और सदैव ही बहनों की रक्षा करने हेतु संकल्प लिया कार्यक्रम के अंत में उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं समाजसेवियों मातृशक्तियों का आभार व्यक्त सुश्री अंकिता झारिया ने किया कार्यक्रम में मुख्य सराहनीय भूमिका जिला प्रहरी नेहा सिंह परिहार,उमेरा,प्रिया, गंगा बाई पुनिया साविता, सुरेखा इत्यादि लोगों की उपस्थिति में अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज एवं सर्वधर्म जनसेवा मंच समिति के संयुक्त तत्वावधान में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ

Leave a Reply