त्याग तपस्या चले धर्म धरा पथ पर, मुमुक्षु सुहास भाई के जयकारों से गूंज उठा थांदला नगर

झाबुआ। थांदला जैन श्रीसंघ ने दीक्षार्थी भाई सुहास गाँधी का अभिनंदन समारोह आयोजित किया। जैन भगवती दीक्षा अर्थात जीवन भर के लिए वैज्ञानिक भौतिक उपकरणों का आजीवन त्याग करते हुए छहकाय जीवों के रक्षक बनकर मर्यादित जीवन बिताना। इस पराक्रम को शिरोधार्य करते हुए आगामी महावीर जन्म कल्याणक पर संयम लेने जा रहे सुहासभाई की जयकार यात्रा सकल जैन संघ की अगुवाई में उनके गगनभेदी जयकारों के साथ आडम्बर रहित नयापुरा स्थित जिन मन्दिर से पैदल ही निकली।
जो आजाद मार्ग पर स्थित पौषध भवन पर धर्मसभा के रूप में परिवर्तित हो गई।जानकारी देते हुए संघ प्रवक्ता पवन नाहर ने बताया कि सकल संघ की नवकारसी का लाभ नेचरल गोल्ड परिवार ने लिया वही उन्होंने पूरे दीक्षार्थी परिवार का अभिनन्दन भी किया वही थांदला स्थानकवासी श्री संघ व आल इण्डिया जैन जर्नलिस्ट एसोसिएशन (आईजा) ने दीक्षार्थी एवं परिजन को शाल माला पहनाते हुए अभिनन्दन पत्र भेंट किये। इस दौरान मूर्तिपूजक जैन श्रीसंघ, दिगम्बर जैन श्रीसंघ, तेरापंथ महासभा, अखिल भारतीय चन्दना श्राविका मण्डल, जैन सोशल ग्रुप, अटल सेवा संस्थान, व्होरा व घोड़ावत परिवार ने भी शाला माला द्वारा दीक्षार्थी का अभिनन्दन किया।
इस दौरान विराजित अणुवत्स मुनिमण्डल एवं निखिलशिलाजी आदि साधविमण्डल ने भी दीक्षार्थी भाई व उपस्थित जन समुदाय को मंगल जिनवाणी श्रवण करवाते हुए मांगलिक फ़रमाई। जैन श्रीसंघ की ओर से संघ अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत ने शब्दों की अभिव्यक्ति से दीक्षार्थी परिवार का गुणगान किया वही दीक्षार्थी बहनों आदि ने भी मंगल स्तवन प्रस्तुत किये। सभा का संचालन संघ सचिव प्रदीप गादिया ने किया।

Leave a Reply