थाना ब्यवरा ना बालिग लड़की को बहला फुसला कर भगा लेजाने वाले दस हजार के इनामी आरोपी को किया गिरफ्तार

थाना ब्यावरा शहर, जिला राजगढ़  *नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर भगा ले जाने वाले 10,000 रूपये के ईनामी आरोपी को दबोचा–       महिला सम्बन्धी मामलों में अपराधियों को धरपकड़ करने हेतु जिला पुलिस कप्तान द्वारा समस्त थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है। जिसके पालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजगढ़ श्री एस.आर. दंडोतिया व एसडीओपी ब्यावरा श्रीमती किरण अहिरवार के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी ब्यावरा(शहर) श्री राजपाल सिंह राठौर के नेतृत्व में ब्यावरा(शहर) पुलिस द्वारा अपहरण के मामले में आरोपी रामभरोसे कंडेरा निवासी सुठालिया रोड ब्यावरा को तकनीकी विवेचना एवं अथक प्रयासों से कमला लाज के पीछे ब्यावरा से दबोच लिया व अपहर्ता को भोपाल बाईपास चौराहा ब्यावरा से दस्तयाब किया गया है।     दिनांक 17.02.2020 को फरियादिया ने अपने लडके के साथ थाना उपस्थित थाना आकर जुबानी रिपोर्ट किया कि शाम 07.30 बजे करीब मैं एवं मेरी लडकी दोनों घर के बाहर बैठीं थीं फिर कुछ समय बाद किसी काम का बोलकर वह कहीं चली गई मेरे घर के पीछे रहने वाला रामभरोस कंडेरा भी अपने घर पर नहीं है। मुझे संदेह है कि मेरी लडकी को रामभरोसे बहला फुसलाकर भगा ले गया है। फरियादिया की रिपोर्ट पर धारा 363 भादवि का अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान अपहृता व संदेही रामभरोसे कंडेरा की तलाश की गयी किन्तु आरोपी स्वयं को लगातार छिपा रहा था और घटना दिनांक से ही लगातार फरार चल रहा था।          संदेही रामभरोसे कंडेरा की गिरफ्तारी एवं अपहृता की दस्तयाबी कराने वाले को पुलिस अधीक्षक राजगढ़ द्वारा 10,000 रूपये के नकद ईनाम की उद्घोषणा की गयी थी। दिनांक 17.01.2020 को काफी प्रयासों के बाद अपहर्ता को दस्तयाब किया गया, पीड़िता के कथन व मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर आरोपी के विरूद्ध धारा 366, 376, 376(2एन) भादवि व 5एल/6 पाक्सो एक्ट का इजाफा किया गया। आरोपी को दिनांक 19.01.2021 को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया गया। आरोपी जेल में निरूद्ध है।       इस कार्यवाही में थाना प्रभारी श्री राजपाल सिंह राठौर, उनि जगदीश गोयल, प्रधान आरक्षक राजपाल सिंह चैहान, आरक्षक देवीलाल दांगी, महिला आरक्षक अनीता यादव, महिला आरक्षक चांदनी राजावत, आरक्षक योगेन्द्र सिंह राजपूत व साइबर सैल शाखा राजगढ़ के आरक्षक शशांक सिंह यादव, आरक्षक रवि कुशवाह व आरक्षक प्रदीप शर्मा की भूमिका सराहनीय रही।

Leave a Reply