नरवाई जलाने से रोकने हेतु बनखेड़ी में कार्यशाला आयोजित, किसानों ने नरवाई न जलाने की ली शपथ

होशंगाबाद से दिव्या मेहरा की ख़बर। नरवाई जलाने से रोकने के लिए कलेक्टर धनंजय सिंह के निर्देशानुसार  जिले में किसानों को प्रेरित करने सतत प्रयास किये जा रहे हैं। इसी क्रम में गत दिन विकासखंड बनखेड़ी अंतर्गत कृषि विज्ञान केन्द्र गोविंद नगर में अनुविभाग स्तरीय कार्यशाला का आयोजन कर किसानों को नरवाई न जलाने हेतु प्रेरित किया गया। कार्यशाला में किसानो को नरवाई प्रबंधन में उपयोगी कृषि यंत्रो जैसे सुपर सीडर बेलर, रोटावेटर आदि कृषि यंत्रो का उपयोग कर नरवाई को खेत में मिलाकर बुआई करने एवं नरवाई न जलाने हेतु सलाह दी गई। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद पूसा नई दिल्ली द्वारा विकसित किया गया पूसा डी कम्पोजर के माध्यम से नरवाई को डी कम्पोजर करने के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यशाला में किसानों को नरवाई जलाने से होने वाले नुकसान एवं नरवाई न जलाने से होने वाले फायदे के बारे में विस्तार से कृषि वैज्ञानिको द्वारा सलाह दी गई। कार्यशाला में एसडीएम पिपरिया ने कृषि अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे ग्राम स्तर पर समितियों का गठन कर कार्यशालाओं का सतत आयोजन कराए और किसानो को जागरूक करे उन्हें नरवाई जलाने से पर्यावरण को होने वाली हानि की जानकारी दे और प्रेरित करे कि वे नरवाई न जलाए बल्कि उसका उचित प्रबंधन करे। उन्होंने कहा कि फसल कटाई का काम शुरू हो गया है अत: पंचायत स्तर पर पानी के टेंकर तैयार रखे साथ ही किसान भाईयों से भी कहा कि वे अपने स्प्रे पंप भी तैयार रखे। कार्यशाला में किसानो ने नरवाई न जलाने की शपथ ली साथ ही आश्वस्त किया कि वे अन्य किसानभाईयों को भी इसके लिए प्रेरित करेंगे। कार्यशाला में कृषि अभियांत्रिकी पवारखेड़ा सुश्री अश्विनी सिंह ने नरवाई प्रबंधन हेतु उपयोग किये जाने वाले विभिन्न कृषि यंत्रो  पर शासन की योजनाओं के माध्यम से दिए जाने वाले अनुदान के बारे में कृषकों को विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नईदिल्ली से प्राप्त पूसा डी कंपोजर कैप्सूल कृषकों को प्रदाय किये गये। साथ ही कार्यशाला में उपस्थित सभी किसानभाईयो सहित अधिकारियों ने नरवाई न जलाने की शपथ ली साथ ही आश्वस्त किया कि वे अन्य किसानों को भी नरवाई न जलाने के लिए प्रेरित करेंगे। कार्यशाला में एसडीएम नितिन कुमार टाले,अनुविभागीय अधिकारी पुलिस शिवेन्द्र जोशी, सीईओ जनपद पंचायत श्रीमति शिवानी मिश्रा, वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक केव्हीके बनखेड़ी डॉ.संजीव गर्ग, कृषि वैज्ञानिक डॉ. बृजेश नामदेव, डॉ.देवीदास पटेल, श्रीमति आकांक्षा पांडे, सहायक संचालक कृषि जेएल कास्दे, उप परियोजना संचालक आत्मा गोविंद मीना, अनुविभागीय अधिकारी कृषि व्हीपी रघुवंशी, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी केएल गुर्जर, क्षेत्रीय ग्रामीण कृषि विकास अधिकारी/बीटीएम सुमित चौने प्रगतिशील कृषक दिनेश माहेश्वरी, राजेन्द्र कुमार, सरपंच, सचिव, जनप्रतिनिधिगण सर्वश्री माहेश्वरीजी, अनिल बारोलिया, वीरेन्द्र पटेल, भगवानदास काबरा, रमेश पटेल, संजय जैन, श्रीमति मालती सरपंच पलिया पिपरिया सहित अन्य किसानभाई एवं अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित थे। 

Leave a Reply