पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर अंत्योदय, एकात्म मानववाद विषय पर हुई जिला स्तरीय संगोष्ठी

झाबुआ- “मानवीय राष्ट्रीयता का आधार भारत माता है सिर्फ भारत नही। इसमें सिर्फ माता शब्द हटा लेने से भारत जमीन का टुकड़ा मात्र बन कर रह जायेगा। भारत एक परिवार है और हमारे जीवन मे विदेशी पद्धतियां , रीति रिवाज अवरोध पैदा करते है ।और हम जिस मिट्टी में जन्मे है हमे उसके कण कण का ऋणी होना चाहिए।आपने सनातन धर्म की परंपरा का निर्वहन करते हुए सर्वे भवन्तु सुखिन की मनोभावना को बल दिया। अत्यंत अभावो में जीने के बाद भी उपाध्याय जी ने देशप्रेम को जीते हुए भारतीय जन संघ के अध्यक्ष बने ।और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संगठक भी बने ।उक्त उद्वविचार मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के नेतृत्व में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 105 वी जयंती पर अंत्योदय, एकात्म मानववाद विषय पर हुई जिला स्तरीय संगोष्ठी के प्रमुख वक्ता के रूप में सेवा निवर्तमान प्राचार्य ओर प्रशिद्ध इतिहासकार श्री के के त्रिवेदी ने व्यक्त किये ।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला जन अभियान परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष पर्वत मकवाना ओर कार्यक्रम की अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्राचार्य ओर पण्डित गणेशजी उपाध्याय जी ने की ।


भारतमाता ओर पंडित दीनदयाल जी उपाध्याय के चित्र पर माल्यार्पण ओर दिप प्रज्वलन अतिथियों ने किया ।सभी अतिथियों का स्वागत समितियों के सदस्यों ने किया । स्वागत भाषण जन अभियान परिषद झाबुआ के जिला समन्वयक जय दीक्षित ने दिया ओर कार्यक्रम की जानकारी प्रदान कर उपाध्याय जी के जीवन परिचय को भी बताया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पर्वत जी ने उपाध्याय जी को उस समय के सर्वकालिक महान लोगो को श्रेणी में रखते हुए कहा कि उन्होंने अपना सारा जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित कर दिया और ऐसे समय मे देश के लिए कार्य किया जब सारी अवस्थाये प्रतिकूल थी । राष्ट्र को हम तब खुशहाल देख पाएंगे जब देश के
हर गरीब को रोटी, ओर रोजगार प्राप्त हो जाएगा ।ये उनकी अवधारणा थी ।
कार्यक्रम के द्वितीय वक्ता के रूप में पंडित जी ने गणेशजी के रूप की चर्चा करते हुए देश के नेताओ को एकात्म मानववाद से जोड कर सही प्रकार से देश सेवा करने के बारे में बताया ।आपने हम के बजाए में को अहमियत देते हुए देश प्रेम की नसीहत दी । यदि हर व्यक्ति में “में” की भावना जन्म लेगी तो उसे देश प्रेम होगा ओर वह देश को अपना मानेगा । जनता का कल्याण ,आम आदमी का कल्याण दीनदयाल जी उपाध्याय की विचार धारा थी।
कार्यक्रम में सभी ब्लॉक के सेकड़ो प्रतिभागियों ने संगोष्ठी का लाभ और अनुभव प्राप्त किया । कार्यक्रम में सभी ब्लॉक समन्वयक ओर मेंटर्स उपस्थित रहे । संगोष्ठी के दौरान झाबुआ ब्लॉक समन्वयक तोलिया डामोर ने द्वारा 27 तारीख को होने वाले कोरोना वेक्षिनेशन अभियान में सभी उप. प्रतिभागियों को अपने ग्राम फलियों में वेक्षिनेशन अभियान में सहयोग करने हेतु संकल्प दिलाया गया ।
संगोष्ठी कार्यक्रम का संचालन
राजेश वैरागी ओर आभार प्रदर्शन पेटलावद बी सी प्रवीण पवार ने किया ।

,

About रणवीर सिंह सिसोदिया ब्यूरो चीफ झाबुआ

View all posts by रणवीर सिंह सिसोदिया ब्यूरो चीफ झाबुआ →

Leave a Reply