पत्नी के सामने पति को पीटते हुए घर से निकाला और चाकू घोंपकर कर दी हत्या

पत्नी के सामने पति को पीटते हुए घर से निकाला और चाकू घोंपकर कर दी हत्या

घायल पत्नी ने कहा- 8-10 लोग अस्पताल में आये और कहा तेरा पति तो चला गया तू अपनी सोच

उज्जैन।बीती रात गांधी नगर विक्रम नगर क्षेत्र में रहने वाले युवक की पड़ोस में रहने वाले 5 लोगों ने मिलकर उसी की पत्नी के सामने हत्या कर दी। पति को बचाने के चक्कर में घायल हुई पत्नी का अस्पताल में उपचार चल रहा है जहां देर रात 8-10 लोग पहुंचे और कहा कि तेरा पति तो मर गया तू अपनी सोच। नागझिरी पुलिस ने हत्या कर प्रकरण दर्ज कर तीन लोगों को हिरासत में लिया है।

राहुल पिता मदनलाल बाघेला 30 वर्ष निवासी गांधी नगर विक्रम नगर बेलदारी कर रात में घर लौटा। खाना खाने के बाद सोने की तैयारी कर रहा था उसी दौरान रितेश, विनोद, छोटू, मनोज, भगवान सिंह हाथों में चाकू, डंडे लेकर राहुल के घर में घुसे। उसे पीटते हुए बाहर लाये। यह देख पति को बचाने के लिये उसकी पत्नी मंजू बीच बचाव करने गई तो एक बदमाश ने सिर में ईंट मारकर उसे घायल कर दिया और उसी के सामने राहुल की चाकू मारकर हत्या कर दी। सूचना मिलने पर नागझिरी थाने का डायल 100 वाहन मौके पर पहुंचा। राहुल को उठाकर पुलिस वाहन में ही जिला चिकित्सालय लाया गया जहां डॉक्टर ने परीक्षण के बाद राहुल को मृत घोषित किया।

राहुल की पत्नी मंजू ने बताया कि परिजनों ने घायल हालत में उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया था जहां देर रात 8-10 लोग आये और कहा कि तेरा पति तो मर गया है, अब तू अपनी जान की सोच।

हमला करने वाले के पेट में भी लगे चाकू: जिला अस्पताल के महिला वार्ड में मृतक की घायल पत्नी भर्ती थी तो पुरुष वार्ड में हत्या के मामले में आरोपी मनोज भर्ती था जिसे पुलिस ने रात को ही कस्टडी में लेकर उपचार के लिये भर्ती कराया था। मारपीट के दौरान उसके पेट में भी चाकू लगे थे।

दोनों पक्षों की कहानी अलग-अलग
मृतक की पत्नी मंजू ने बताया कि सुबह मेरे घर के बाहर किसी व्यक्ति की मोटर सायकल खड़ी थी। पड़ोस में रहने वाली 4-5 महिलाएं मेरे घर आईं और कहा कि तेरे घर में कोई अनजान आदमी आया है उसे बाहर निकाल। मंजू ने दरवाजा खोलकर महिलाओं को घर की तलाशी लेने को कहा। महिलाएं पूरे घर में देख आईं लेकिन कोई आदमी नहीं मिला। इस को लेकर सुबह महिलाओं से विवाद हुआ था। राहुल बेलदारी करता था जबकि आरोपी ठेकेदारी करते हैं। दो वर्ष पहले राहुल को उक्त लोगों से काम के बदले रुपये लेना थे तभी विवाद हुआ था लेकिन वर्तमान में आरोपियों से कोई विवाद नहीं हुआ।

धमकाने की बात झूठी 3 आरोपी हिरासत में
महिला और उसके परिजनों द्वारा अस्पताल में आकर बदमाशों द्वारा धमकाये जाने की बात झूठी है क्योंकि आरोपी व फरियादी पक्ष के दोनों घायलों के पास पुलिस जवान ड्यूटी कर रहे हैं। मामले में हत्या का प्रकरण दर्ज कर तीन आरोपियों को भी हिरासत में लिया गया है।
जयसीराम बरडे, थाना प्रभारी नागझिरी

पुलिस कस्टडी में जिला अस्पताल में उपचार करा रहे मनोज ने बताया कि राहुल के घर अनजान लोगों का आना जाना लगा रहता है। मोहल्ले के लोगों को इस पर आपत्ति थी। सोमवार के दिन में भी राहुल जब घर में नहीं था तो अनजान व्यक्ति उसके घर आया था जिसका महिलाओं ने विरोध किया था। रात में राहुल घर लौटा तो उसकी पत्नी मंजू ने राहुल को दिन के विवाद की बात बताई तो वह चाकू लेकर मोहल्ले की महिलाओं को गालियां दे रहा था। उसे रोकने का प्रयास किया तो पेट में चाकू मार दिय

Leave a Reply