पहाडो के बीच बनी झिरी से लाते पीने का पानी, बूंद बूंद पानी के लिए तरसे माल फलिये के बाशिंदे

पहाड़ों के बीच बनी झिरी से पीने का पानी एकत्रित करती महिला

झाबुआ। ( रिपोर्ट-कलसिंह भूरिया 9425945343) पानी की समस्या को लेकर माल फलिये की ददनाक हालात देख किसी को भी आज से 30 से 35 साल पहले का झाबुआ याद आ जाएगा, आज भी पानी के लिए दर-दर भटकने को मजबूर है गांव वासी।धरातल पर योजनाओ का कियांवयन किस हद तक किया जा रहा इस बात से तो अधिकारी भी वाकिफ है। पानी की समस्या आधुनिक विश्व में एक बहुत गंभीर समस्या बनकर उभर रही है। पानी कि यह समस्या इतनी गहन इसलिए हुई क्योंकि लोगों ने पृथ्वी पर मौजूद जल के सभी स्रोतों को दूषित कर दिया है। जल प्रदूषित होने के कारण लोग इस जल का उपयोग नहीं कर सकते, जिस वजह से उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ ऐसा ही मामला जनपद पंचायत मेघनगर की ग्राम पंचायत मालखंडवी मैं देखने को मिला जहां दर्जनभर परिवार पहाड़ों के बीच बनी प्राकृतिक झिरी से दूषित पानी एकत्र कर पीने को मजबूर है लेकिन ना तो शासन का ध्यान इस ओर है, और ना ही स्थानीय प्रशासन का। आज के आधुनिक दौर में इंसान पानी की समस्या से जूझ रहा है। जिले मे कई गांव तो ऐसे है जहां पर आज भी नदी, नालों और तालाबों के आस-पास पीने के पानी का जुगाड छोटे-छोटे गड्ढे खोद कर झिरिया बनाकर करते है। ऐसा ही एक वाक्य डी.जी. न्यूज़ झाबुआ प्रतिनिधि ने प्रत्यक्ष अपनी आंखों से देखा और उसे कैमरे में कैद किया। जहां इस गांव के ग्रामीण बूंद बूंद के लिए तरसते नजर आए, जिन्होंने ने बताया कि कई बार शासकीय नुमाइंदों से पानी की व्यवस्था हेतु गुहार लगा चुके हैं लेकिन हमारे इस समस्या को नजरअंदाज कर दिया गया, यहा पीएचई विभाग भी सुस्त और लापरवाह दिखाई देता है। आने वाली इस भीषण जल की समस्या को खत्म करने के लिए जिले भर के ऐसे गांवो मे कुछ प्रयास करने चाहिए ताकि ग्रामीणों को पीने के पानी की समस्या से जूझना ना पड़े।हमें चाहिए कि हम जल व्यर्थ न बहाएं उसकी कीमत समझें क्योंकि जल अनमोल है इसके बिना जीवन संभव नहीं हैं।

यह बोले जिम्मेदार -:

उक्त मामले को लेकर जनपद पंचायत सीईओ श्री रावत से उनके मोबाइल पर संपर्क करने पर कॉल रिसीव नहीं किया गया।

ग्राम पंचायत सचिव प्रदीप लायक ने बताया कि पीएचई विभाग के संबंधित अधिकारी को मामले से अवगत करा दिया गया है यहां पानी की व्यवस्था के लिए पंचायत द्वारा प्लानिंग की गई है जो जल्दी लोगों को पानी मिल सकेगा।

Leave a Reply