पानी बेचने का लाइसेंस तक नहीं है फर्जी तरीके से कैंपर के माध्यम से पानी बेचा जा रहा

प्रॉपर अशोकनगर में जितने भी पानी के प्लांट है उनकी वैधता किस मापदंड के तहत सुचारू है क्योंकि कई लोगों के पास पानी बेचने का लाइसेंस तक नहीं है फर्जी तरीके से कैंपर के माध्यम से पानी बेचा जा रहा है और इसकी शिकायत मैंने पहले भी की थी लेकिन आज दिनांक तक कोई कार्रवाई नहीं हुई क्या कारण है एक तरफ सरकार कहती है कि मिलावटखोरों के खिलाफ सख्त कानून बनाया गया है पानी भी एक मिलावट खोरी में आता है क्योंकि जितने भी पानी के प्लांट अशोक नगर में चल रहे हैं कई लोगों के पास इसका लाइसेंस नहीं है इसके बावजूद भी खुलेआम प्रशासन को चुनौती देते हुए अवैध रूप से पानी बेचा जा रहा है उस पानी में क्या मापदंड होना चाहिए कितनी मात्रा में कौन सी चीज होना चाहिए इसका किसी को आज तक पता नहीं है मेरा प्रशासन से निवेदन है सभी पत्रकारों से निवेदन है कि इस ओर ध्यान दें क्योंकि यह आम लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करने वाला काम है और जो लोग पानी की सप्लाई करते हैं कैंपर के माध्यम से वह घुटने तक जूता पहनकर कैंपर पर खड़े होकर पानी भरते हैं कैंपर में और उसी पानी को सभी लोग पीते हैं यह बहुत गलत है और न्याय संगत नहीं है इस पर जिला प्रशासन को तत्काल प्रभाव से संज्ञान लेना चाहिए और दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई करना चाहिए

Leave a Reply