बहन ने दी गाड़ी, दिनभर भाई घूमकर करता वारदात, बहन को भी देता हिस्सा

एमजी रोड पुलिस ने पकड़ा, पहले भी कर चुके है वारदात


इंदौर. बहन की एक्टिवा गाड़ी लेकर भाई वारदात करता। जो पैसा मिलता उसमें से बहन को भी हिस्सा देता। पहले भी वारदात में पकड़ाने पर वह जेल गया था। छूटते ही फिर से वारदात करने लगा। पुलिस ने बहन को भी गिरफ्तार किया है।
टीआई एमजी रोड राजेंद्र चतुर्वेदी ने बताया 31 अक्टूबर को मुन्नालाल साहू को दो युवकों ने रास्ते में रोका। उसे कहां कि तुम एक्सीडेंट कर भागे हो। उसके सामान व जेब तलाशी के बहाने पूरा सामान निकाल लिया। बातो में उलझाकर उसके पास रखे २५ हजार रुपए दोनो युवक ले भागे। पुलिस ने जांच की तो सीसीटीवी कैमरे में युवकों के फुटेज मिल गए। गोल्डन रंग की एक्टिवा पर वे सवार थे। पुलिस ने गाड़ी की तलाश शुरु की। एएसआई सत्येंद्र सिंह जादौन व सिपाही जवाहर ने शुभम तिवारी (24) निवासी नेहरु नगर, आकाश जाटव (28) निवासी पाटनीपुरा को पकड़ा। शुभम को छह महीने पहले एमजी रोड पुलिस पकड़ चुकी है। तब भी वह एक्सीडेंट का बहाना बनाकर एक व्यक्ति से 17 हजार रुपए ले गया था। कुछ दिन पहले शुभम जेल से छूटा। साथी के साथ फिर से वारदात शुरु कर दी।
पूछताछ में शुभम ने बताया कि गाड़ी उसकी बहन आरती की है। फरियादी से मिले रुपए में से 15 हजार रुपए उसने बहन को दिए थे। बहन को जानकारी थी कि वह लोगो से रुपए ऐंठता है। हर वारदात में बहन ही उसे अपनी गाड़ी देती बदले में वारदात में से जो पैसा मिलता उसमें से हिस्सा ले लेती। पुलिस ने बहन को भी गिरफ्तार किया। तीनो को सोमवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। शुभम नशे का आदी है। इसके लिए वह वारदात करता है।

One comment

Leave a Reply