बोर्ड परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को तनावमुक्त करने चलाएंगे अभियान

गोठी धर्मशाला में हुई वरिष्ठ नागरिक मंच की बैठक

बोर्ड परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को तनावमुक्त करने चलाएंगे अभियान

इटारसी. वरिष्ठ नागरिक मंच की मासिक बैठक गोठी धर्मशाला में संपन्न हुई। बैठक में डॉक्टर केएस उप्पल, डॉ. विनोद सीरिया, अशोक सक्सेना, अशोक कश्यप, ओपी पांडे ने जन्म दिवस कार्यक्रम के तहत अपने-अपने जीवन के संस्मरण सुनाएं। मंच सचिव राजकुमार दुबे ने पिछली बैठक की कार्यवाही की जानकारी दी। बैठक में माह फरवरी में मंच सदस्यों के स्वास्थ्य परीक्षण कार्यक्रम पर सहमति बनी।
इन विषयों पर हुई चर्चा
– कक्षा दसवीं एवं बारहवीं बोर्ड परीक्षा देने वाले बच्चों को परीक्षा संबंधी तनाव से मुक्ति देने के लिए, आवश्यक जानकारी देने का शहर की शालाओं में एक अभियान चलाने पर चर्चा की गई।
– गोठी परिवार द्वारा मंच सदस्य सतीश गोठी की स्मृति में निर्धन मेधावी छात्र छात्राओं को छात्रवृत्ति देने के लिए 5120 रुपयों की राशि दान देने की।
मंच के सदस्यों ने बेसहारा लोगों के लिए भीषण ठंड से बचने के लिए में 11 कंबल बांटने की बात रखी। इसके बाद वितरण कंबल का वितरण भी किया गया।
बैठक के अंत में डॉक्टर यूके शुक्ला एवं डॉ उमा शंकर भट्ट के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। बैठक का संचालन राजकुमार दुबे ने किया।
इस दौरान अध्यक्ष घनश्यामदास मित्तल, कामिनी शुक्ला, सुषमा परमहंस, ऊषा चिमानिया, रामविलास चौरे, हेमंत भट्ट, एनपी चिमानीया, टीआर चोलकर, एके शुक्ला, विजय मंडलोई, रामविलास चौरे, डॉ ज्ञानेंद्रनाथ पांडे सहित अन्य मौजूद थे।

33 प्रतिशत से कम अंक पाया, तो अगली कक्षा में प्रवेश नहीं
इटारसी. एक दशक बाद इस साल से 5 व 8वीं की वार्षिक परीक्षा बोर्ड पैटर्न पर होने जा रही है। इसमें प्रावधान किया गया है कि अगर कोई बच्चा 33 प्रतिशत से कम अंक लाएगा, तो उसे अगली कक्षा में प्रवेश नहीं दिया जाएं, हालांकि उसे अप्रैल में पूरक परीक्षा में बैठने का अवसर मिलेगा। इसके बाद भी फेल होता है, तो उसे उसी कक्षा में रहना होगा।
राज्य शिक्षा केंद्र के निर्देशों के अनुसार परीक्षा संचालन को लेकर सभी प्राइमरी और मिडिल के प्रधानाध्यापकों को दिशा निर्देश दे दिए हैं।

पहली बार होंगे फरवरी में प्री वार्षिक
राज्य शिक्षा केंद्र ने इस साल पहली बार पांचवीं व आठवीं कक्षा के बच्चों को भी प्री- वार्षिक परीक्षा आयोजित करने जा रही है। ये परीक्षा 3 फरवरी से होगी। इस परीक्षा के लिए राज्य शिक्षा केंद्र प्रश्नपत्र तैयार कर भेजेगा। सभी जिला परियोजना समन्वयकों को निर्देश जारी किए गए हैं कि स्कूल की आकस्मिक निधि से परीक्षा संपन्न कराएं। प्री- वार्षिक परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों के आधार पर बच्चों को वार्षिक परीक्षा के बारे में आइडिया हो जाएगा और वे अच्छी तरीके से तैयारी करा सकेंगे। साथ ही वार्षिक परीक्षा अच्छे अंक प्राप्त कर शत-प्रतिशत उताीर्ण हो सकें।

मूल्यांकन भी उसी दिन
प्री वार्षिक की परीक्षा के तुरंत बाद उसी दिवस बच्चों की कॉपियों का मूल्यांकन कराने के निर्देश शिक्षकों को दिए गए हैं। मूल्यांकन करते समय यह देखे कि बच्चों द्वारा कौन से प्रश्नों के उत्तर गलत लिखे गए हैं? 5 वीं की परीक्षा सुबह 11 से दोपहर 1.30 बजे और 8 वीं की परीक्षा सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक होगी।

वर्जन
राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा 5-8 वीं के लिए जारी निर्देशों का पालन सभी स्कूलों में कराया जा रहा है। तीन फरवरी से दोनों कक्षाओं के प्री- वार्षिक परीक्षा के आयोजन की तैयारियां शुरू करा दी गई है।
– एसएस पटेल, डीपीसी, जिला शिक्षा केंद्र होशंगाबाद।

About डीजी न्यूज़ मध्य प्रदेश

View all posts by डीजी न्यूज़ मध्य प्रदेश →

Leave a Reply