भोपाल जिले में स्थानीय अवकाश कल….

भोजताल संवाददाता -भोपाल : 09 सितम्बर गणेश चतुर्थी को भोपाल जिले के लिए शुक्रवार 10 सितम्बर 2021 पूर्व से ही स्थानीय अवकाश घोषित किया गया है । राज्य शासन द्वारा भोपाल जिले के लिए पूर्व से घोषित अन्य स्थानीय अवकाशों में 5 नवम्बर को दीपावली का दूसरा दिन और केवल भोपाल शहर के लिए 03 दिसम्बर को गैस त्रासदी स्मृति दिवस भी शामिल हैं ।

👉👉सोमवार से खिलाई जाएगी एल्मेन्डाजॉल गोली

भोपाल : 09 सितम्बर जिले में कृमिमुक्ति दिवस का आयोजन वर्ष में एक बार किया जाता है। जिसमें समस्त विद्यालयों एवं आँगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से शून्य से 19 वर्ष तक के बच्चों, किशोर तथा किशोरियों को एल्मेन्डाजॉल गोली का सेवन कराया जाता है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, भोपाल डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि विगत वर्ष की तरह कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम का आयोजन 13 से 23 सितम्बर 2021 तक सामुदायिक आधारित गृह भ्रमण रणनीति के माध्यम से किया जाएगा। जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के मैदानी कार्यकर्ता द्वारा घर-घर जाकर एक से 19 वर्षीय समस्त हितग्राहियों को कृमिनाशन की दवा खिलाई जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि कृमि नाशक कार्यक्रम के तहत 01 से 02 वर्ष के बच्चों को आधी गोली 2 चम्मच के बीच में रखकर पूरी तरह से चूरा कर साफ पीने के पानी में मिलाकर खिलाई जाएगी एवं 2 से 3 वर्ष के बच्चों को एक गोली पूरी तरह से चूरा कर साफ पीने के पानी में मिलाकर खिलाई जाएगी। इसी तरह 3 से 19 वर्ष तक के बच्चों को एक पूरी गोली अच्छी तरह से चबाकर साफ पानी में खिलाई जाएगी। गंभीर कृमि संक्रमण से कई लक्षण उत्पन्न हो सकते है जैसे दस्त, पेट में दर्द, कमजोरी, उल्टी, और भूख न लगना शामिल है । उन्होने बताया कि कुछ बच्चों को कृमिनाशन की दवा खाने के बाद मामूली दुष्प्रभाव जैसे जी-मचलाना, उल्टी, दस्त, पेट में हल्का दर्द और थकान अनुभव होने की संभावना हो सकती है। यह दुष्प्रभाव अस्थाई होते है और आमतौर पर आसानी से संभाले जा सकते है

👉👉कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिये ऑनलाईन आवेदन सोमवार तक

भोपाल : 09 सितम्बर संयुक्त संचालक किसान कल्याण बी.एल.बिलैया ने बताया कि वर्ष 2021-22 के लिये कृषि यंत्र अनुदान पोर्टल पर जिलेवार लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं । पोर्टल पर निर्धारित कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिये संभाग के सभी जिलों के कृषक 13 सितम्बर 2021 तक पोर्टल ऑनलाईन आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। निर्धारित तिथि तक प्राप्त आवेदनों में से लक्ष्य के विरुद्ध 14 सितम्बर को लॉटरी की प्रक्रिया के तहत चयन किया जाएगा । चयनित कृषकों की सूची एवं प्रतीक्षा सूची दोपहर 3 बजे तक पोर्टल में प्रदर्शित कर दी जायेगी ।कृषि यंत्रों के अनुदान के लिये कृषक अपने ऑनलाईन आवेदन निर्धारित यंत्रों के लिये ही कर सकेंगे । इन यंत्रों में स्वचलित रीपर, रीपर, मल्टीक्रॉप थ्रेशर, एक्सियल फ्लो पैडी थ्रेशर, पॉवर स्प्रेयर या बूम स्प्रेरयर (ट्रैक्टर चलित), विनोविंग फैन (ट्रैक्टर या मोटर ऑपरेटेड) यंत्रों पर अनुदान के लिये आवेदन ऑनलाईन किये जा सकते हैं

👉👉80 फीसदी उपभोक्ता ऑनलाइन माध्यम से कर रहे बिजली बिल का भुगतान

ऑनलाइन भुगतान सुविधा का लाभ उठाएं, रू. 20 तक की छूट पाएं

भोपाल : 09 सितम्बर मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के निम्नदाब के विभिन्न श्रेणी के उपभोक्ता ऑनलाइन माध्यम से अपना बिजली बिल का भुगतान करने में अपनी प्रभावी भागीदारी सुनिश्चित कर रहे हैं। ऑनलाइन बिजली बिलों के भुगतान से उपभोक्ताओं को एक ओर जहॉं बिल भुगतान के लिए बिजली कंपनी के दफ्तरों में नहीं आना पड़ रहा है वहीं दूसरी ओर ऑनलाइन भुगतान पर कंपनी द्वारा रू. 20 तक की छूट भी प्रदान की जा रही है। कंपनी कार्यक्षेत्र के अंतर्गत लगभग 84 प्रतिशत निम्नदाब कनेक्शनों का बिल भुगतान ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त हो रहा है। इसका मतलब है कि करीब-करीब 80 फीसदी उपभोक्ता बिजली बिल के भुगतान के लिए ऑनलाइन माध्यम का उपयोग कर रहे हैं। इसी प्रकार उच्चदाब श्रेणी के शत-प्रतिशत उपभोक्ता ऑनलाइन माध्यम से बिजली बिलों का भुगतान करते हैं। चालू माह में कंपनी के विभिन्न जिलों के उपभोक्ताओं ने ऑनलाइन माध्यम से करीब 50 करोड़ रूपये का भुगतान किया है। चालू माह में ऑनलाइन माध्यम से लगभग 80 फीसदी उपभोक्ताओं से भुगतान प्राप्त हो रहा है।
मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक गणेश शंकर मिश्रा ने बिजली उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे ऑनलाइन माध्यम से बिजली बिलों का भुगतान करें। इससे उन्हें 20 रूपये तक की छूट का लाभ मिलेगा, साथ ही ऑनलाइन भुगतान की रसीद भी प्राप्त होगी। उन्होंने कंपनी के उपाय एप के माध्यम से भी भुगतान का आग्रह किया है। साथ ही एम.पी.ऑनलाईन, कॉमन सर्विस सेन्टर, कंपनी पोर्टल portal.mpcz.in (नेट बैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई, ईसीएस, बीबीपीएस, कैश कार्ड एवं वॉलेट आदि) फोन पे, अमेजान पे, गूगल पे एवं पेटीएम एप के माध्यम से बिल भुगतान कर सकते हैं।

👉👉दिव्यांग विद्यार्थी छात्रवृत्ति के लिये पोर्टल पर कराएँ पंजीयन

भोपाल : 09 सितम्बर दिव्यांग विद्यार्थियों को शैक्षणिक सत्र 2021-22 को छात्रृवत्ति प्रदान करने के लिये “राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल Scholarships.gov.in” पर पंजीयन जारी हैं। भारत सरकार के दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग द्वारा यह छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। दिव्यांग विद्यार्थी छात्रवृत्ति योजना का लाभ उठाने के लिये इस पोर्टल पर अपना पंजीयन करा सकते हैं। संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्री-मैट्रिक (कक्षा 9 एवं 10 वीं) ऑनलाइन पंजीयन के लिये 15 नवम्बर अंतिम तिथि है। इसी तरह पोस्ट मैट्रिक (कक्षा – 11 से स्नातकोत्तर स्तर तक) और टॉप क्लास अर्थात भारत सरकार द्वारा चिन्हित संस्थाओं में अध्ययनरत दिव्यांग विद्यार्थी 30 नवम्बर तक पोर्टल पर अपना पंजीयन करा सकते हैं।

👉👉खुशियों की दास्तां

मुफ्त अनाज योजना जीवन के लिए अहम – श्रीमती रूबीना बी

भोपाल : 09 सितम्बर उचित मूल्य दुकान पर उत्सव में खाद्यान्न लेने आए परिवारों ने कोरोना के इस मुसीबत काल में मुफ्त अनाज की योजना को उनके जीवन के लिए अहम बताया है। रोज खाने और कमाने वाले तथा कम आय वालों के लिये प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना मददगार साबित हुई है। गली नंबर तीन बाग उमराव दूल्हा, इन्द्रा नगर, भोपाल की रहवासी श्रीमती रूबीना बी बताती हैं कि उनके पास जीवन निर्वाह का कोई दूसरा साधन नहीं था। ऐसे में परिवार का भरण-पोषण बेहद मुश्किल था। लेकिन ऐसी मुसीबत की घड़ी में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना एवं मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना ने उनके परिवार को सहारा दिया है।
श्रीमती रूबीना बी ने केन्द्र व राज्य सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा है कि जनता कर्फ्यू के समय मिलने वाले निःशुल्क राशन ने हमें और परिवार को दो वक्त के भोजन की चिंता से मुक्त कर दिया। परिवार में सबके काम धंधे बंद थे लेकिन अन्न योजना के चलते परिवार का कोई सदस्य कभी भूखा नहीं सोया। श्रीमती रूबीना बी ने बताया कि मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा इस साल माह अप्रैल, मई एवं जून तीन माह का राशन निःशुल्क मिला था। वह बताती है कि केन्द्र और राज्य शासन ने हमारे जैसों के लिए नवम्बर माह तक का नि:शुल्क राशन देकर निश्चित ही हमारे परिवार को संबल देगा।

👉👉गणेश प्रतिमा स्थापना और धार्मिक आयोजन के लिये 30 x 45 का आकार से बड़ा नहीं होगा पंडाल

भोपाल जिले में धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी

भोपाल : कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट भोपाल द्वारा जारी आदेश अनुसार प्रतिमा व ताजिये ( चेहल्लुम) के लिए पण्डाल का आकार अधिकतम 30 गुणा 45 फीट नियत किया गया है । झॉकी निर्माता यह ध्यान रखेंगे कि झांकियों की स्थापना एवं प्रदर्शन संकुचित जगह में नहीं हों ताकि श्रद्वालुओं और दर्शकों की भीड़ की स्थिति न बने । झांकी स्थल पर भीड़ एकत्र नहीं हो तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन हो इसकी व्यवस्था आयोजकों को सुनिश्चित करना होगी ।
कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट भोपाल अविनाश लवानिया द्वारा पूर्व में जारी आदेश में दिये गये दिशा निर्देशों को यथावत रखते हुए तथा मध्यप्रदेश शासन,गृह विभाग मंत्रालय, वल्लभ भवन भोपाल के नए निर्देशानुसार सोमवार देर रात्रि से धारा 144 के तहत भोपाल जिले की राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश तक प्रतिबंधात्मक आदेश पारित किए हैं ।झांकी आयोजन स्थल अथवा मूर्ति स्थापना स्थल पर किसी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम, जागरण, मनोरंजक कार्यकम, खेल प्रतियोगिताएँ एवं भण्डारा इत्यादि प्रतिबंधित रहेंगे। मूर्ति और ताजिये ( चेहल्लुम ) विसर्जन स्थल पर ले जाने के लिए अधिकतम 10 व्यक्तियों के समूह की अनुमति होगी । इसके लिए आयोजकों को पृथक से संबंधित अनुविभागीय अधिकारी अर्थात एसडीएम से लिखित अनुमति प्राप्त किया जाना आवश्यक होगा । कोविड संक्रमण के दृष्टिगत धार्मिक, सामाजिक आयोजन, चल समारोह और जुलूस निकालना पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा । विसर्जन के लिए सामूहिक समारोह भी पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा । आयोजकों से कहा गया है कि सार्वजनिक स्थानों पर कोविड संक्रमण से बचाव के तारतम्य में झॉकियों, पण्डालों एवं विसर्जन के आयोजनों में श्रद्वालु तथा दर्शक फेस कवर, सोशल डिस्टेंसिंग एवं सेनेटाईजर का प्रयोग के साथ ही केन्द्र, राज्य व जिला स्तर से समय – समय पर जारी किये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए।

👉👉धान उपार्जन हेतु पंजीयन 15 सितम्बर से

भोपाल : खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में धान उपार्जन हेतु कृषक पंजीयन के लिये जारी उपार्जन नीति अनुसार किसान पंजीयन 15 सितम्बर से 14 अक्टूबर तक किया जायेगा।
किसान पंजीयन की प्रक्रिया ई-उपार्जन पोर्टल एवं एमपी किसान एप गिरदावरी एवं कियोस्क कामन सर्विस सेंटर/लोक सेवा केन्द्र पर गिरदावार के आधार पर होगी। पंजीयन में पूर्व से पंजीकृत किसान एवं नवीन किसान पंजीयन जिसमें किसान की भूमि का रकबा, फसल एवं फसल की किस्म की जानकारी गिरदावरी से ली जायेगी। पंजीयन ओटीपी आधारित व्यवस्था से होगा। खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में किसान पंजीयन में 15 अगस्त 2021 तक कराए गए सिकमी/बटाईदार अनुबंध ही मान्य होगे। उन्होंने कृषक से अपेक्षा की है कि पंजीयन की निर्धारित समयावधि में पंजीयन केन्द्र/गिरदावर एप से पंजीयन करायें।

👉👉लोक अदालत में 29 हजार से अधिक प्रकरण रखे जाएंगे — जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीमती गिरिबाला सिंह

निराकृत प्रकरणों में पक्षकारों को तुलसी के पौधे दिए जायेंगे

भोपाल : राष्ट्रीय लोक अदालत के अंतर्गत 11 सितम्बर, शनिवार को सुबह 10:30 बजे से भोपाल जिला न्यायालय में आयोजन होगा। जिसमें 63 खंडपीठ में 29 हजार से अधिक प्रकरणों पर समाधान प्रस्तुत होगा।
जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीमती गिरिबाला सिंह ने बताया कि लोक अदालत में सभी खंडपीठ अधिकारियों और अधिवक्तागणों ने अधिक से अधिक प्रयास से पक्षकारों को जल्दी और सुलभ न्याय की इस अवधारणा का लाभ मिले। पक्षकारों के मध्य समझौता और प्रकरणों में समाधान के लिए यह बेहतर व्यवस्था है। लोक अदालत में सभी पक्षों के लिए विन-विन की स्थिति रहती है। इसमें पक्षकार ही अपना निर्णय स्वयं लिखते है जिससे कही भी जय और पराजय का भाव नहीं आता है और उभय पक्ष के निर्णय को खंडपीठ अधिकारी कानूनी जमा पहनाता है। इसमें किसी प्रकार का दबाव नहीं रहता और एक बेहतर माहौल में लोगों को न्यायपूर्ण समाधान मिलता है।
जिला एवं सत्र न्यायधीश ने बताया कि भोपाल में आयोजित लोक अदालत में 29 हजार से अधिक प्रकरणों में समाधान होने की संभावना है। इसमें अधिक से अधिक लोग जिनके प्रकरण न्यायालय में लंबित है और जल्दी ही न्याय पाना चाहते हैं तो लोक अदालत में आकर इसका लाभ ले सकते हैं। इस बार लोक अदालत में ऑनलाइन व्यवस्था के साथ भी प्रकरणों में समाधान किया गया है और दूरस्थ स्थानों से भी लोगों ने सम्मलित होकर इसका लाभ लिया हैं। इस व्यवस्था में दोनों पक्षों की पहल से न्याय और सर्व मान्य समाधान निकल जाता है इस लोक अदालत में राजस्व, सिविल,पारिवारिक विवाद, सर्विस मैटर,विद्युत, पानी , एक्सीडेंट क्लेम प्रकरण, श्रम संबंधी प्रकरण, बैंक चेक अनादरण, क्रिमिनल क्षम्य प्रकरण आदि को रखा जाएगा

Leave a Reply