मत्स्य संपदा योजना का लाभ लेने के लिए हितग्राहियों से आवेदन 30 तक आमंत्रित……

-भोपाल : 06 सितम्बर प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अंतर्गत विभिन्न गतिविधियों के लिए भोपाल संभाग के सभी जिलों के मछुआ कृषकों से मत्स्य पालन विभाग में आगामी 30 सितम्बर तक आवेदन आमंत्रित किए गए हैं ।
उप संचालक मत्स्योद्योग श्रीमती शशिकला गोलाई ने बताया कि योजना का उद्देश्य मछली पालन और उत्पादकता में वृद्धि, गुणवत्ता सुधार, तकनीक के माध्यम से प्रबंधन एवं मछुआरों का कल्याण और मत्स्य कृषकों की आय में बढ़ोत्तरी करना है।
हितग्राही योजना का लाभ लेकर हैचरी स्थापना, पोखर व तालाब निर्माण, मिश्रित मत्स्यपालन, अनुदान, ब्रीडिंग के लिए इकाई की स्थापना, आइस बाक्स युक्त मोटर साईकिल, मछली बेचने के लिए ई-रिक्शा, फीड मिल जैसे कार्य कर सकेंगे।

👉👉हेल्दी एयर – हेल्दी प्लेनेट पर वेबिनार कल

भोपाल : 06 सितम्बर वायु प्रदूषण से होने वाले दुष्प्रभाव और वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के उपायों के प्रति जागरूक करने के लिये मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा 7 सितम्बर को वेबिनार आयोजित किया जायेगा। “अंतर्राष्ट्रीय नील गगन के लिये स्वच्छ वायु दिवस” (International Day of Clean Air for Blue Skies) पर आयोजित वेबिनार की थीम “हेल्दी एयर-हेल्दी प्लेनेट”’ रखी गई है। वर्ष 2020 में इस दिवस पर पहली बार आयोजित कार्यक्रम की थीम “क्लीन एयर फॉर ऑल” थी ।
उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा शहरी वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के लिये नेशनल क्लीन एयर कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसमें देश के 132 चिन्हित शहर शामिल हैं। कार्यक्रम में प्रदेश के प्रमुख शहरों में परिवेशीय वायु गुणवत्ता मापन का कार्य किया जा रहा है। वर्ष 2011-15 के वायु गुणवत्ता के आधार पर केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा प्रदेश के 6 शहर भोपाल, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, सागर और देवास को नॉन अटेनमेंट शहरों की श्रेणी में शामिल किया गया है। इन शहरों की वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के लिये कार्य-योजना बनाकर कार्यवाही की जा रही है। कार्य-योजना की मॉनीटरिंग राज्य स्तर पर अपर मुख्य सचिव (पर्यावरण) और शहर स्तर पर संभागीय आयुक्त की अध्यक्षता में गठित कमेटी द्वारा की जा रही है।

👉👉अस्थाई कनेक्शन लेकर ही झांकी – पंडाल की सज्जा करने की अपील

भोपाल : गणेशोत्सव त्यौहार में पंडालों को अस्थायी कनेक्शन देने के लिए मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने माकूल प्रबंध किए हैं। कंपनी ने धार्मिक उत्सव समितियों और बिजली उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे गणेशोत्सव के दौरान धार्मिक पण्डालों एवं झॉंकियों में बिजली साज-सज्जा, नियमानुसार अस्थाई कनेक्शन लेकर ही करें। विद्युत वितरण कंपनी ने धार्मिक उत्सव समितियों से कहा है कि वे रसीद की लेमीनेटेड प्रति अनिवार्य रूप से पंडाल/झॉंकी के सामने लगाएं। विद्युत कनेक्शन मीटरीकृत होगा।
विद्युत देयक की बिलिंग नियमानुसार अस्थायी कनेक्शन हेतु लागू घरेलू दर पर की जाएगी तथा तदानुसार कंपनी में राशि जमा कराना होगी। इसके लिए आवेदन में दर्शाए अनुसार विद्युत भार के अनुरूप सुरक्षा निधि एवं अनुमानित विद्युत उपभोग की राशि अग्रिम जमा करा कर पक्की रसीद प्राप्त की जाना चाहिए। बिजली उपभोक्ता, गणोशोत्सव व धार्मिक आयोजन में पण्डालों, झांकियों में विद्युत साज-सज्जा हेतु कंपनी के निकटतम वितरण केन्द्र, सहायक अभियंता के कार्यालय में निर्धारित प्रपत्र में सही, संयोजित विद्युत भार को दर्शाते हुए अस्थायी कनेक्शन हेतु आवेदन आवश्यक रूप से करें।
धार्मिक उत्सव समितियों, उपभोक्ताओं को एक लिखित आष्वासन देना होगा कि आवेदित विद्युत भार से अधिक का उपयोग नहीं करेंगे तथा लायसेंसी विद्युत ठेकेदार की टेस्ट रिपोर्ट आवेदन में संलग्न करेंगे। वायरिंग इत्यादि लायसेंसधारी विद्युत ठेकेदार से ही करवाएं।
विद्युत वितरण कंपनियों ने आग्रह किया है कि आवेदित विद्युत भार से अधिक भार का उपयोग विद्युत साज-सज्जा के लिए नहीं करें। निवेदन किया गया है कि अनधिकृत तरीके से विद्युत का उपयोग नहीं किया जाए। विद्युत वितरण कंपनियों ने सचेत किया है कि अधिक भार से ट्रांसफार्मर के जलने की संभावना तथा दुर्घटना की आशंका रहती है इसी प्रकार पारेषण एव वितरण प्रणाली पर विपरीत असर होने से अंधेरे की संभावना का खतरा रहता है।
गणेशोत्सव समितियों को कहा गया है कि अनधिकृत विद्युत उपयोग करने पर इलेक्ट्रिसिटी एक्ट 2003 के तहत उपयोगकर्ता एवं जिस विद्युत ठेकेदार से कार्य कराया गया है, उनके विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। इसी प्रकार अनधिकृत विद्युत उपयोग की दशा में संबंधित विद्युत ठेकेदार का लायसेंस भी निरस्त हो सकता है । सभी कंपनियों ने अपने कार्य क्षेत्र के बिजली उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि वे झांकियों के निर्माण एवं विद्युत साज-सज्जा में सुरक्षा नियमों का अनिवार्य रूप से पालन करें।

👉👉रोजगार मेला 8 सितम्बर को – गोविन्दपुरा आई.टी.आई आडिटोरियम में

केवल पुरूष अभ्यर्थी ही हो सकेंगे सम्मिलित

भोपाल : रोजगार कार्यालय भोपाल के माध्यम से बुधवार 8 सितम्बर को प्रातः गोविन्दपुरा आई.टी.आई के आडिटोरियम में केवल पुरूष आवेदकों के लिए रोजगार मेले का आयोजन किया जायेगा । रोजगार मेले में मेसर्स फूड प्रोडक्टस प्राइवेट लिमिटेड कार्पोरेट कंपनी, अरेरा कालोनी, भोपाल द्वारा विभिन्न पदों पर चयन किया जायेगा ।
जिला रोजगार अधिकारी के.एस.मालवीय ने बताया है कि मेसर्स फूड प्रोडक्टस प्राइवेट लिमिटेड कार्पोरेट कंपनी, अरेरा कालोनी, भोपाल में फील्ड ऑफिसर और सिनियर फील्ड आफिसर के पदों के लिए आवश्यक योग्यता स्नात्क, स्नातकोत्तर के अतिरिक्त योग्यता हिन्दी एवं स्थानीय भाषा का ज्ञान होना आवश्यक होगा । अनुभव में एमबीए उम्मीदवारों को प्राथमिकता दी जाएगी तथा वेतनमान 12 हजार से 15 हजार रूपये कंपनी द्वारा निर्धारित किया गया है । इनका कार्यक्षेत्र इन्दौर, इन्दौर ग्रामीण, अलीराजपुर, बुरहानपुर, बडवानी, खरगोन, खंडवा, उज्जैन, आगर मालवा, मंदसौर, नीमच, रतलाम, शाजापुर,धार, देवास, मंडला,डिंडोरी रहेगा ।
इसी कंपनी में ही सेल आफिसर पद के लिए योग्यता स्नातक, स्नातकोत्तर के अतिरिक्त योग्यता हिन्दी एवं स्थानीय भाषा का ज्ञान डिप्लोमा इन मार्केटिंग और एमबीए को प्राथमिकता दी जाएगी । इस पद का वेतनमान 20 हजार रूपये निर्धारित किया गया है । कार्यक्षेत्र भोपाल और इन्दौर रहेगा ।
कंपनी में फैक्ट्री तकनीशियन और तकनीशियन पद के लिए शैक्षणिक योग्यता आई.टी.आई उत्तीर्ण फिटर और इलेट्रीशियन होना आवश्यक है इनका वेतनमान 12 हजार से 15 हजार रूपये रहेगा । इसी प्रकार क्वालिटी कण्ट्रोल के लिए टेक्नीकल असिस्टेंट पद के लिए योग्यता बीएससी ( फूड टेक्नोलॉजी ) और वेतनमानः- 12 हजार से 15 रूपये रहेगा ।
जिला रोजगार अधिकारी ने कहा है कि इच्छुक आवेदक 8 सितम्बर को प्रातः आडीटोरियम आईटीआई गोविन्दपुरा में अपने समस्त दस्तावेजों के साथ कोविङ -19 गाइड लाइन का पालन करते हुए उपस्थित हो सकते हैं ।

Leave a Reply