मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजनाओं में दलाली भ्रष्टाचार की जांच केंद्रीय जांच एजेंसियों द्वारा जांच सुनिश्चित की जाएं ।।

मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजनाओं में दलाली भ्रष्टाचार की जांच केंद्रीय जांच एजेंसियों द्वारा जांच सुनिश्चित की जाएं ।।

अशोक नगर जनपद के अशोक नगर तहसील एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास योजना गरीब किसान मजदूर आदि लोगो के लिए केंद्र एवं राज्य के द्वारा शहर कस्बों में नगर पालिका के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायतों के माध्यम से किसानों मजदूरों को आवंटित किये जा रहे है।नियमानुसार प्रधानमंत्री आवास मुहैया उस व्यक्ति किया जाना है। जिसके पास कच्चे मकान है। अथवा विधवा महिला दिव्यांग गरीब किसान मजदूरों को आवंटित किया जाना है। लेकिन कुछ दिनों से नगरपालिका स्तर एवं ग्रामीण क्षेत्रों से लगातार सोशल मीडिया प्रिन्ट मीडिया इलोट्रोनिक में लगातार भ्रष्टाचार की खबर संचालित हो रही है।इसके बाबजूद जिला शासन प्रशानन के कानो में जू नही रेंग रही। जबकि अशोक नगर तहसील के उप जिलाधिकारी को लगातार दिए जाने वाले ज्ञापन के बाबजूद कोई भी कार्यवाही नही किए जानेपर आमजन मानस में रोष व्याप्त है। इससे शासन की स्नलिप्तता की बू नजर आ रही है। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों डोंगरा पाछर टोंकली आदि गांव में जो लोग सेकेट्री सरपंच को प्रतिआवास पर बीस हजार रुपए और शौचालय पर दो हजार रुपए दिए है। उनके आवास शौचालय बन गए है।एक ही गांव में एक परिवार के दो लोगो के आवास मुहैया हो गए हे। और जो गरीब व्यक्ति पैसा देने में सझम नहीं है। उन गरीब असहाय लोगो को नगर पालिका बाबू एवं ग्रामीण सेकेट्री सरपंच आज भी चक्कर कटवा रहे है।। अशोक नगर जिला अंतर्गत अशोक नगर नगरपालिका द्वारा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अभी तक आवंटित किए गए सभी आवासो की जांच करना आवश्यक है।सभी आवंटित आवासों की पारदर्शिता से जांच केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा कराए जाने पर अधिकारियों एवं कर्मचारियों की सत्यता सामने आनेपर इनकी आय व्यय संपत्ति की जांच दंडात्मिक कानूनी कार्यवाही जैसी निलंबित प्रक्रिया तत्काल प्रभाव से किया जाना देशहित राष्ठहित किसानहित व्योपारहित जनहित न्यायहित में हितकर होगा।। आकाश यादव पत्रकार की रिपोर्ट अशोक नगर से

Leave a Reply