मध्य प्रदेश में भारी बारिश अपने साथ तबाही लेकर आई. प्रदेश के कई जिलों में जल प्रलय की तस्वीरें सामने आ रही हैं. चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है.

मध्य प्रदेश में भारी बारिश अपने साथ तबाही लेकर आई. प्रदेश के कई जिलों में जल प्रलय की तस्वीरें सामने आ रही हैं. चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है. जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो गया है. ग्राम चमराई में चारो तरफ पानी ही पानी अशोक नगर के छेत्र में ग्वालियर-चंबल संभाग के श्योपुर, शिवपुरी, ग्वालियर, मुरैना, भिंड, अशोकनगर, दतिया और गुना जिले में बारिश से हालत बद से बदतर हो गई है. ऐसे में लगातार सेना के जवान समेत कई टीम राहत एवं बचाव के कार्य में लगी हुई हैं. प्रदेशभर में सिलसिलेवार तरीके से आंकड़े देखिए कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का स्थितीप्रदेश भर में बाढ़ से 55 हजार 199 कुल जनसंख्या प्रभावित है. बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों से 30 हजार 790 लोगों को बाहर निकाला गया है. कुल 126 राहत कैंप बनाए गए हैं. जिसमें 16 हजार 68 लोगों को रखा गया है.



इसे भी पढे़ं : बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पूर्व CM के दौरे पर BJP ने किया कटाक्ष, विधायक ने कहा- कमलनाथ सिर्फ हवाई दौरा ही करते हैं

यहां समझिए जिलेवार ऑपेरशन की जानकारी:
श्योपुर जिला
श्योपुर जिले की अब तक की स्थिति की बात करें तो यहां कुल 55 ग्राम प्रभावित हैं. यहां से करीब 8 हजार लोगों को बाहर निकाल लिया गया है. कुल 25 राहत कैंप बनाए गए हैं. जिसमें 1500 व्यक्ति ठहरे हुए हैं. जिले में आबदा, रेशन कॉलोनी, कस्बा, विजयपुर, चैनपुर,पनवाड़ा, बीरपुर, इकलौदा,गोलीपुरा बाढ़ प्रभावित गांव हैं.

भिंड जिला
भिंड जिले में 25 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. जिसमें कुल 10 हजार 194 लोग प्रभावित हैं. यहां बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों से 1100 लोगों का रेस्क्यू किया गया है. 10 राहत कैंप बनाए गए हैं. जहां 800 लोगों को रखा गया है. राहत एवं बचाव कार्य में एसडीआरएफ की दो टीम, आर्मी के 52 जवान और 7 बोट लगी हुई हैं.

मुरैना जिला
मुरैना जिले में बाढ़ प्रभावित कुल ग्राम 68 हैं. जिसमें प्रभावित जनसंख्या 13574 है. बाढ़ग्रस्त क्षेत्र से बाहर निकाले गए व्यक्तियों की संख्या 6596 है. जहां कुल 30 राहत कैंप बनाए गए हैं. राहत कैम्पों में 4596 व्यक्ति ठहरे हैं. जबकि राहत कार्य SDRF के 23 लोगों की टीम, NDRF के 50 लोगों की टीम, होमगार्ड के 50 जवान लगे हुए हैं.

शिवपुरी जिला
शिवपुरी जिला में बाढ़ प्रभावित कुल ग्राम 309 हैं. प्रभावित जनसंख्या 16660 है. बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों से 2075 लोगों को बाहर निकाला गया है. 15 राहत कैम्प बनाए गए हैं. जिसमें 1600 लोग ठहरे हुए हैं. राहत कार्य में SDRF-2, NDRF -2 एयरफोर्स, आर्मी, 9 बोट की टीमें लगी हुई हैं.

दतिया जिला
दतिया में कुल 36 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. जिनकी कुल जनसंख्या 8496 है. बाढ़ग्रस्त क्षेत्र से अब तक 12744 व्यक्तियों को बाहर निकाा गया है. जिले में कुल 20 राहत कैम्प बनाए गए हैं. जिसमें कुल 4495 व्यक्ति ठहरे हुए हैं. जिले में राहत कार्य में SDRF, NDRF, एयरफोर्स, आर्मी की टीमें लगी हुई हैं.

इसके अतिरिक्त गुना, अशोकनगर और ग्वालियर में भी राहत कैम्प बनाए गए हैं, जहां बाढ़ प्रभावितों की व्यवस्थाएं की गई है.

इसे भी पढे़ं : MP में आफत की बारिश: चंबल नदी का लगातार बढ़ रहा जलस्तर, भिंड-मुरैना में खाली कराए जा रहे गांव, CM ने दिए ये निर्देश मुंगावली से मुंगावली से हरगोविंद यादव की रिपोर्ट



Leave a Reply