महाराष्ट्र / उद्धव ठाकरे की चुनावी सभा के लिए तोड़ी गई स्कूल की दीवार, परीक्षा भी टाली गई

मुंबई. सोमवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की एक चुनावी जनसभा उस्मानाबाद जिले में स्थित एक जिला परिषद स्कूल में आयोजित की गई थी। आरोप है कि जगह कम होने के कारण स्कूल की दीवार को गिरा दिया गया। यही नहीं स्कूल में सोमवार को होने वालीपहले टर्म की केमिस्ट्री की परीक्षाओं को शुक्रवार तक के लिए टाल दिया गया।

आचार संहिता का उल्लंघन है दीवार को नुकसान पहुंचाना

यह रैली जेएडपी गर्ल्स हाई स्कूल ग्राउंड में आयोजित हुई थी। जिला परिषद के सीईओ संजय कोल्ट ने अपने पत्र में कहा है कि आयोजकों को 21 अक्टूबर को होने वालेविधानसभा चुनावोंके लिए आचार संहिता का कड़ाई से पालन करना चाहिए और किसी भी स्कूल की इमारत या परिसर की दीवार को नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए।

जेएडपी हाई स्कूल (बॉयज) के हेडमास्टर डी आर सरार से इस बारे में संपर्क करने पर स्वीकार किया कि परीक्षाओं को 18 अक्टूबर तक आगे बढ़ाया गया है।

इस रैली को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा,

  • शिवसेना ने पिछले पांच सालों में किसानों और युवाओं से किए गए अपने वादों को पूरा किया है।
  • शिवसेना बदले की राजनीति में शामिल नहीं होती है। हालांकि, कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं के खिलाफ जांच सत्ता में रहते हुए उनके द्वारा किए गए गलत कामों की वजह से है।


ठाकरे ने एनसीपी नेता अजीत पवार के उस बयान को भी याद किया कि शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे को कुछ नेताओं के हठ के कारण गिरफ्तार किया गया था।ठाकरे ने अपने भाषण में एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस पर जमकर हमले किए।

288 सीटों वाली महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव 21 अक्टूबर को होंगे, जबकि मतगणना 24 अक्टूबर को होगी। इन चुनावों में मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ बीजेपी-शिवसेना गठबंधन और कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के बीच है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: