महाराष्ट्र / एडिट वीडियो में प्रधानमंत्री मोदी को छत्रपति शिवाजी के रूप में दिखाया गया, गृह मंत्री अनिल देशमुख ने दिए जांच के आदेश

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इस मामले की जांच का आदेश दिया है।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इस मामले की जांच का आदेश दिया है।

अनिल देशमुख ने बताया कि छत्रपति शिवाजी महाराज उनके लिए देवतुल्य हैं और उनसे किसी की भी तुलना निंदनीय हैशिवसेना नेता संजय राउत ने कहा-छत्रपति शिवाजी महाराज की तस्वीरों को राजनीति के लिए प्रयोग किया जा रहा है

मुंबई. छत्रपति शिवाजी महाराज संग प्रधानमंत्री मोदी की तुलना का विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। इस बीच यूट्यूब पर एक मॉर्फवीडियो सामने आया है, जिसमें छत्रपति शिवाजी महाराज के चेहरे में पीएम मोदी की तस्वीर लगाई गई है, वहीं उनके सबसे विश्वासपात्र सरदार तान्हाजी की के चहरे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की तस्वीर लगाई गई है। वीडियो सामने आने के बाद अब इसे सोशल मीडिया से हटाने के लिए महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने यूट्यूब से अपील की है। इससे पहले एक भाजपा कार्यकर्ता की किताब में नरेंद्र मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी महाराज से करने को लेकर विवाद हो चुका है।

विवाद बढ़ने पर वीडियो हटाया गया
मंगलवार को मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि छत्रपति शिवाजी महाराज उनके लिए देव तुल्य हैं और उनसे किसी की भी तुलना निंदनीय है। हमने इस वीडियो को हटाने के लिए यूट्यूब से कहा है। साथ ही इस मामले की जांच करवाई जा रही है। दोषी व्यक्ति पर कड़ी कार्रवाई होगी। जो वीडियो वायरल हो रहा है, उसे फिल्म ‘तान्हाजी’ से लिया गया है। जानकारी के मुताबिक, एक्टर अजय देवगन की फिल्म तानाजी के एक एडिटेड ट्रेलर को यूट्यूब चैनल ‘पॉलिटिकल कीड़ा’ ने रिलीज किया है। हालांकि, विवाद बढ़ने पर इस वीडियो को पेज से हटा लिया गया है। हालांकि, अभी तक यूट्यूब चैनल की और से कोई भी बयान सामने नहीं आया है। हालांकि, यह वीडियो दिल्ली चुनावों को ध्यान में रख कर बनाया गया है।

छत्रपति महाराज का अपमान बर्दास्त नहीं: संजय राउत
100 सेकंड के इस वीडियो में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उदयभान सिंह राठौड़ के रूप में दिखाया गया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने इस वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया दी जिसके बाद से वीडियो वायरल हो गया। मुंबई में संजय राउत ने इसको लेकर कहा कि- मैंने इसे न्यूज में देखा कि छत्रपति शिवाजी महाराज और तानाजी की तस्वीरों को राजनीति के लिए प्रयोग किया जा रहा है। चुनवी कैंपेन के लिए शिवाजी की तस्वीरों को प्रयोग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

, ,

Leave a Reply