महिदपुर में पटवारी ने शासकीय अभिलेखों में की हेराफेरी, एसडीएम ने पटवारी को सेवा से किया पृथक

💢 महिदपुर में पटवारी ने शासकीय अभिलेखों में की हेराफेरी, एसडीएम ने पटवारी को सेवा से किया पृथक

एंकर : महिदपुर तहसील में एक पटवारी द्वारा शासकीय अभिलेखों में हेराफेरी कर करीब 224 बीघा शासकीय जमीन निजी व्यक्तियों के नाम दर्ज कर दी। जिसमें जांच उपरांत एसडीएम कोर्ट द्वारा पटवारी को बर्खास्त करने की कार्रवाई की गई।

विओ : एसडीएम कैलाशचंद्र ठाकुर ने बताया कि मामला वर्ष 2012-13 का है। जिसमें तात्कालीन पटवारी विक्रमलाल मालवीय (वर्तमान में तराना में पदस्थ है) ने ग्राम बोलखेडा नाऊ में करीब 224 बीघा जमीन जो कि उन्नत कृषि संस्था अध्यक्ष मादु के नाम से दर्ज है। जो अजा वर्ग के भूमिहीन व्यक्तियों को सहकारी समिति बनाकर कृषि कार्य करने के लिए दी गई थी। इस भूमि को वर्ष 2012-13 में खसरा व बी 1 में निजी व्यक्तियों के नाम अंकित कर दिया गया। ऐसे में शासकीय भूमि होने की जानकारी होने के बाद भी अपने पद का दुरुपयोग होना पाया गया। अपात्र लोगों को लाभ पहुंचाने की विभागीय जांच में तहसीलदार के प्रतिवेदन पर दोष सिद्ध होना पाया गया। जिसके बाद एसडीएम कैलाश चन्द्र ठाकुर ने मप्र सिविल सेवा वर्गीकरण नियंत्रण व अपील नियम के अंतर्गत पटवारी विक्रमलाल को सेवा से पृथक किया गया।

बाईट : कैलाश ठाकुर, एसडीएम, महिदपुर

महिदपुर से ब्यूरो डिजी न्यूज संवाददाता राज कछवाय की खास रिपोर्ट

Leave a Reply