मुख्यमंत्री की महात्वकांक्षी योजना पड़ी ठंडे बस्ते में स्कूल बंद – पढ़ाई हो रही प्रभावित

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड-19 की स्थिति के हालात को देखते हुए हमारा घर हमारा विद्यालय योजना लागू की थी जिसका उद्देश्य विद्यार्थियों की फलियां चौपाल में पढ़ाई हो सके इसके लिए शिक्षकों को सुबह 10:30 से 1:00 तक का समय निर्धारित किया गया था किंतु वर्तमान में स्थिति बिल्कुल विपरीत है मामला पेटलावद विकासखंड की माध्यमिक शाला गोपालपुरा और मोयवागेली का है आज स्कूल की स्थिति के हालात जानने की कोशिश की गई तो माध्यमिक शालाए बंद पाई गई

गोपालपुरा स्कूल के प्रांगण में कक्षा छठवीं के छात्र प्रवीण धूलिया राठौड़ ने बताया कि फलिया चौपाल के अंतर्गत पढ़ाई नहीं हो रही है

अगर हालात ऐसे ही बने रहे तो बच्चे कैसे पड़ पड़ेंगे और कैसे आगे बढ़ पाएंगे इससे सर्व शिक्षा अभियान पर भी धब्बा लग रहा है ( शिक्षक गण खाद्यान्न किट लेने पेटलावद कार्यालय आए हैं हमारा घर हमारा विद्यालय योजना अगर प्रभावित हुआ है तो मैं सी.एस.सी को भेजकर अभी दिखाता हूं और आगे ऐसा नहीं होगा यह भी सही है कि 10:30 से 1:00 तक फलिया चौपाल मैं बच्चों के साथ पढ़ाई होना है और 4:30 बजे तक शिक्षकों को स्कूल में रहना है ) श्री सियाराम रायपुरिया बी.आर.सी पेटलावद

यहां पर प्रश्न यह उठता है कि खाद्यान्न किट लाने के लिए स्कूलों को बंद करना पड़ रहा है और शिक्षकों को खाद्यान्न लेने जाना पड़ रहा है जिससे हालात बिगड़ रहे हैं कुल मिलाकर मुख्यमंत्री जी कितनी भी कोशिश करें मगर कार्यपालिका के जो सिस्टम है उसे सुधार लाना नामुमकिन साबित हो रहा है साथ ही मुख्यमंत्री जी की महात्वकांक्षी योजना की धज्जियां उड़ रही है

Leave a Reply