मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्मार्ट उद्यान में बादाम और मौलश्री के पौधे रोपे

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज श्यामला हिल्स स्थित स्मार्ट उद्यान में बादाम और मौलश्री के पौधे रोपे। मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ गौरा जन-उत्थान और कल्याण संस्था (अपना घर) की श्रीमती माधुरी मिश्रा, सुश्री विभूति, श्री प्रेम सोनी और श्रीमती पाठक ने भी पौधे लगाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संस्था के कार्यों की जानकारी भी प्राप्त की।

पौधों का महत्व

बादाम पर्वतीय क्षेत्रों में अधिक पनपता है। तकनीकी दृष्टि से यह बादाम के पेड़ के फल का बीज होता है। बादाम के पेड़ में गुलाबी और श्वेत रंग के सुंगधित फूल होते हैं। बादाम फायबर से परिपूर्ण होने से पाचन में सहायक होता है। बादाम का सेवन, उच्च रक्तचाप, कब्ज रोग और हृदय रोग में उपयोगी माना गया है। यह पोटेशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम और विटामिन-ई से भरपूर है। मौलश्री को संस्कृत में केसव, हिन्दी में मोलसरी या बकूल भी कहा जाता है। यह औषधीय महत्व का वृक्ष है, जिसका सदियों से आयुर्वेद में उपयोग होता आ रहा है।

Leave a Reply