मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की जनजातीय समुदाय के मुखियाओं से चर्चा

15 नवंबर को मनेगा जनजातीय गौरव दिवस
पेसा एक्ट भी होगा लागू

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भगवान बिरसा मुंडा देश के जनजातीय समाज के गौरव हैं। उन्होंने अपने अधिकारों के लिए संघर्ष और अपने जीवन में बदलाव लाने के लिए स्वयं प्रयास करने की प्रेरणा समाज बन्धुओं को दी। राज्य सरकार भगवान बिरसा मुंडा के दिखाए मार्ग पर चलते हुए जनजातीय समाज के विकास, कल्याण और युवाओं को आत्म-निर्भर बनाने के लिए शिक्षा, उद्यमिता सहित विभिन्न क्षेत्रों में गतिविधियाँ संचालित कर रही हैं। इसी के अंतर्गत प्रदेश में 15 नवम्बर से पेसा एक्ट का क्रियान्वयन आरंभ हो रहा है।

राज्य स्तरीय कार्यक्रम शहडोल में

मुख्यमंत्री श्री चौहान 15 नवम्बर को भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर होने जा रहे जनजातीय गौरव दिवस मनाने के संबंध में मुख्यमंत्री निवास में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। जनजातीय बहुल विकासखंडों के साथ ही राज्य स्तरीय कार्यक्रम शहडोल में होने जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए जन-प्रतिनिधि, स्वयंसेवी संगठनों के कार्यकर्ता, जनजातीय समुदायों के मुखिया, परम्परागत तड़वी, पटेल और अन्य प्रतिनिधियों से चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आमंत्रित प्रतिनिधियों से जनजातीय गौरव दिवस संबंधी चर्चा करते हुए उन्हें विभिन्न शासकीय योजनाओं और कल्याणकारी कार्यक्रमों की जानकारी दी। जनजातीय कार्य मंत्री सुश्री मीना सिंह, वन मंत्री कुंवर विजय शाह, पशुपालन एवं सामाजिक न्याय मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल, आदिवासी वित्त विकास निगम की अध्यक्ष श्रीमती निर्मला सुनील बारेला और अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply