युवती के हत्या के केस की सुनवाई फास्ट ट्रेक कोर्ट में आरोपी को उदाहरण मूलक सजा देने की माँग पर सौपा

युवती के हत्या के केस की सुनवाई फास्ट ट्रेक कोर्ट में आरोपी को उदाहरण मूलक सजा देने की माँग पर सौपा ज्ञापन

विगत दिनों शहर में हुई युवती की हत्या के खिलाफ और युवती को न्याय दिलाने की माँग पर ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन ने इस केस की सुनवाई फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में करने व हत्या की निषपक्ष जांच और आरोपी को उदाहरणमूलक सजा की माँग को लेकर संयुक्त कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया गया।
इस दौरान संगठन की वरिष्ठ सदस्य पुष्पा ओझा ने बताया कि बीते 23 सितंबर को शहर की दुबे कॉलोनी निवासी राहुल शर्मा नाम के युवक द्वारा दिनदहाड़े युवती को षड्यंत्र के तहत घर बुलाकर अमानवीय तरीके से उसकी हत्या कर दी और उसकी लाश को बोरे में रख हत्या के साक्ष्यों को मिटाने का प्रयास किया गया। गौरतलब है की उक्त आरोपी राहुल ने इस घटना से पहले भी युवती के घर जाकर छेड़छाड़ व मारपीट कर परिवार को जान से मारने की धमकी दी थी जिसकी शिकायत थाने में की गई और आरोपी पर मुकदमा भी दर्ज किया गया। लेकिन कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई इसके चलते आरोपी युवक राहुल को भी खुली छूट मिली। उसने फरियादी युवती के घरवालों को कई बार गालियां दी जिसकी लिखित शिकायत युवती द्वारा कलेक्टर व एस पी महोदय को की गई पर आरोपी को नाबालिग करार देकर जमानत दे दी गई। इसी उदासीनता का फायदा उठाते हुए युवक ने जमानत मिलते ही युवती को षड्यंत्र के तहत घर बुलाकर परिवार वालों के साथ मिलकर युवती की हत्या कर दी। यह एक बहुत ही संवेदनशील और जघन्य अपराध है। इस हत्या में शामिल सभी को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। ज्ञापन में निम्नलिखित माँगे की गई :
1 उक्त घटना की निष्पक्ष विवेचना कर एफ.आई.आर.में संशोधन किया जाए।

2. उक्त घटना की सुनवाई फास्ट ट्रेक कोर्ट में की जाए।

3. मुख्य आरोपी राहुल शर्मा को फांसी के अलावा हत्या में शामिल परिवार के लोगो को भी जांच कर उदाहरण मूलक सजा दी जाए।

4. युवती के परिवार की आर्थिक स्थिति को मद्देनजर रखते हुए उसे उचित मुआवजा दिया जाए। (युवती के पिता विकलांग गरीबी की रेखा से नीचे जीवन यापन करती हैं इनके पास आय का कोई स्रोत नहीं है। युवती खुद कपड़े की दुकान पर काम करके परिवार का भरण पोषण करती थी)।

5. शहर में हर स्तर पर नशे पर रोक लगाई जाए।

6. लगातार बढ़ती छेड़छाड़ की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए शिकायत दर्ज कर जल्दी उचित करवाही की जाए।

7. पोर्न साइट व अश्लील प्रचार माध्यमों पर रोक लगाई जाए।

Leave a Reply