यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूशन ऑफ इंडिया में जनरल बिपिन रावत मेमोरियल चेयर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित किया गया

भारतीय सेना ने दिवंगत चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत के 65वें जन्मदिन की पूर्व संध्या पर उनकी स्मृति में यूनाइटेड सर्विस इंस्टीट्यूशन ऑफ इंडिया (यूएसआई) में एक चेयर ऑफ एक्सीलेंस समर्पित किया है।

थल सेनाध्यक्ष और चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी (सीओएससी) के कार्यवाहक अध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे ने इसकी औपचारिक घोषणा 15 मार्च, 2022 को साउथ ब्लॉक में आयोजित एक समारोह में की। इस अवसर पर वीसीओएएस लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे, वीसीएएस एयर मार्शल संदीप सिंह, वीसीएनएस वाइस एडमिरल एसएन घोरमडे, चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी (सीआईएससी) के अध्यक्ष के लिए एकीकृत रक्षा स्टाफ के प्रमुख बीआर कृष्णा और डीसीओएएस (रणनीति) लेफ्टिनेंट जनरल एसके शर्मा भी उपस्थित थे। वहीं, यूएसआई के निदेशक मेजर जनरल बीके शर्मा (सेवानिवृत्त) को 5 लाख रुपये का चेक सौंपा गया, जो कि नामित चेयर ऑफ एक्सीलेंस को मानदेय के रूप में दिया जाएगा।

दिवंगत जनरल बिपिन रावत ने भारत के पहले सीडीएस होने के साथ-साथ भारतीय सेना के 27वें प्रमुख के रूप में भी जिम्मेदारी संभाली थी। वे एक उत्कृष्ट पेशेवर थे और भारतीय सेना के आमूलचूल परिवर्तन के केंद्र में थे। जनरल बिपिन रावत मेमोरियल चेयर ऑफ एक्सीलेंस जुड़ाव और एकीकरण के क्षेत्र पर अपना ध्यान केंद्रित करेगा। चेयर ऑफ एक्सीलेंस जनरल रावत के कुशल नेतृत्व और अपने पेशे में कुशलता के लिए एक उपयुक्त श्रद्धांजलि है।

इस अवसर पर सेना प्रमुख ने बताया कि जनरल रावत रणनीतिक विचारों के लिए उत्साही थे और उन्होंने विभिन्न थिंक टैंक की गतिविधियों में काफी समय व ऊर्जा खर्च की थी और इसलिए उनके 65वें जन्मदिन पर उनके बौद्धिक संस्थानों के साथ सेवाओं के बंधन को मजबूत करने का एक सामयिक समय प्रदान किया है।

 

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/GenRawatCOE(1)L66R.jpeg?w=810&ssl=1

Leave a Reply