लाखों का उप स्वास्थ्य केंद्र बनकर तैयार पर उपयोग नहीं
केंद्र पर ताला लगा है

लाखों का उप स्वास्थ्य केंद्र बनकर तैयार पर उपयोग नहीं
केंद्र पर ताला लगा है, तो मैं इसे दिखाता हूं – श्री वर्मा, बीएमओ
झाबुआ। मेघनगर ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले ग्राम मोखड़ा में लाखों रुपए का उप स्वास्थ्य केंद्र बनकर तैयार खड़ा है, लेकिन विगत 2 सालों से उपयोग में नहीं आ रहा है, नतीजन आसपास क्षेत्र की ग्रामीण महिलाएं परेशानियो का सामना करने को मजबूर है।
शासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए उप स्वास्थ्य केंद्रों का निर्माण कर रहा है, जिसमें लाखों रुपए की लागत से यह भवन बनकर तैयार किये जा रहे लेकिन स्थानीय प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से लाखों की लागत से बने यह उप-स्वास्थ्य केंद्र महक प्रदर्शन के काम आ रहे हैं, यहां ना तो स्वास्थ्य विभाग का जिम्मेदार कर्मचारी दिखाई देता है और ना ही कोई अधिकारी इसकी सुध लेते नजर आते हैं ऐसा ही एक मामला मेघनगर ब्लॉक के ग्राम मोखड़ा में देखने को मिला जहां पर यह भवन लाखों की लागत से बन कर तैयार हो गया और उसकी सजावट भी बेहतरीन तरीके से की गई लेकिन भवन के गेट पर लगा ताला खुलने का नाम नहीं ले रहा।

उप स्वास्थ्य केंद्र के संबंध में आसपास के ग्रामीणों से पूछा गया तो यह सब बातें सामने आई ग्रामीण महिलाओं ने बताया कि किसी महिला को डिलीवरी जैसी परिस्थिति में कल्याणपुरा या फिर पेटलावद लेकर जाना पड़ता है, जिससे गर्भवती महिला को जान का खतरा बना रहता है और परिवार भी कई समस्याओं से झुजते हैं। ग्रामीण महिला जमा पुनिया व संदु सुखियां मकोडिया ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मचारी एएनएम यहां पर आती हैं लेकिन उक्त भवन बंद ही रहता है वह अन्य स्थानों पर बैठकर ग्रामीणों को सलाह देना एवं दवाई वितरण करते है। मामले में मेघनगर बीएमओ शैलेक्सी वर्मा से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि वह डिलीवरी प्वाइंट नहीं है और यदि उप स्वास्थ्य केंद्र पर ताला लगा रहता है तो मैं उसकी जानकारी लेता हूं और लोगों की सुविधाएं के लिए खोलने का इंतजाम करवाता हूं।

Leave a Reply