लावारिस हालत में नवजात:दो-तीन दिन की नवजात बेटी को बोरे में लपेटकर झोले में डालकर जंगल में छोड़ा

लावारिस हालत में नवजात:दो-तीन दिन की नवजात बेटी को बोरे में लपेटकर झोले में डालकर जंगल में छोड़ा

बेटियों को बोझ मानने वाली समाज का एक शर्मसार करने वाला चेहरा गुरुवार को जिले में भी सामने आया। महज दो-तीन दिन की एक नवजात बेटी को निर्दयी माता पिता टाट के बोरे से लपेटकर एक झोले में भरकर जंगल में छोड़ दिया। सूचना मिलते ही डायल हंड्रेड के टीम ने नवजात बेटी को जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया है। लावारिस हालत में यह नवजात बच्ची कचनार थाना क्षेत्र के ग्राम छज्जू बरखेड़ा और आनंदपुर गांव के बीच सूनसान इलाके से मिली। प्लास्टिक के झोले को देख किसी ग्रामीण ने डायल हंड्रेड पर सूचना दी। सूचना पर अशोकनगर जिले के डायल-100 वाहन क्र. 07 को घटना का विवरण देकर रवाना किया गया। थाना अधिकारियों एवं चिकित्सा वाहन को सूचना दी गई। एफआरवी में तैनात सउनि मिश्री लाल मीना, आरक्षक नीरज रघुवंशी, आरक्षक मनोज रघुवंशी और पायलेट अभिषेक शर्मा ने बताया कि प्लास्टिक के झोले को खोलकर देखा तो बोरे में लिपटी एक नवजात मिली। जिसकी उम्र करीब 2-3 दिन की ह अशोक नगर से आकाश यादव की रिपोर्ट ब्यूरो चीफ

Leave a Reply