विशेषज्ञों द्वारा जैविक खेती अपनाने के लिए किसानों को किया जा रहा प्रेरित

किसानों को जैविक खेती अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है, इसके लिए बिजावर क्षेत्र में कृषि विभाग द्वारा प्रयास…

Bakswaha News - mp news experts motivate farmers to adopt organic farming

Jan 24, 2020, किसानों को जैविक खेती अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है, इसके लिए बिजावर क्षेत्र में कृषि विभाग द्वारा प्रयास जारी है।

कृषि विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में बिजावर व बकस्वाहा विकासखंड में किसानों को कम लागत में ज्यादा उपज प्राप्त करने के गुण बताए जा रहे हैं। इसके लिए एसएडीओ डीपी चौबे खेतों में जाकर भ्रमण कर रहे हैं। इन प्रयासों से खेती के नए आयामों को अंजाम दिया जा रहा है। जिससे किसान कम लागत तकनीकी को अपना कर खेती को लाभ का धंधा बनाने के तरीके सीखने में रुचि ले रहे हैं।

उपज के लाभांश को बढ़ाने के लिए एसएडीओ डॉ. डीपी चौबे के निर्देशन में कृषि विभाग का अमला जैविक खेती के बारे में किसानों को जागरूक करने में जुटा है। जिसके चलते बिजावर व बकस्वाहा क्षेत्र के किसानों द्वारा बड़े पैमाने पर बायोगैस संयंत्र बनवाने का कार्य प्रगतिरत है। एसएडीओ चौबे ने बताया कि 2 घनमीटर के बायोगैस संयंत्र में किसानों को प्रतिदिन 50 किलोग्राम गोबर, उतने ही पानी के साथ डालने पर 2 सिलेंडर के बराबर मीथेन गैस ईंधन के लिए प्रतिमाह प्राप्त होती है और संपूर्ण गोबर जैबिक खाद के रूप में परिवर्तित हो जाता है। जिसमें पौधों के लिए आवश्यकताएं पोषक तत्वों की मात्रा भी नष्ट नहीं होती है। ईंधन के रूप में जलने वाले गोबर की बचत होती है।

जंगल कटने से बचते हैं

लकड़ी की बचत होती है जिससे जंगल कटने से बचता है साथ ही पर्यावरणीय प्रदूषण से भी बचत होती है। धुअां नहीं होता है जिससे स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव नहीं होता है बर्तन काले नहीं पड़ते हैं। यह लाभ देखते हुए किसानों की रुचि बायोगैस संयंत्र बनवाने में बढ़ रही है। कृषि अधिकारियों की प्रेरणा से जमुना लोधी घोघरा, हरगोविंद ठाकुर मुड़िया, लक्ष्मन लोधी भड़ाटोर, माया मनया अनगौर सहित कई किसानों द्वारा बायोगैस संयंत्र बनवाने के लिए आवेदन किया गया है, जिनका निर्माण कार्य प्रगति पर है।

,

Leave a Reply