सीईओ की नाक के नीचे लाखों का भ्रष्टाचार अधिकारी-कर्मचारी सरपंच सचिव की जेब में

ग्राम पंचायत पिपलिया पारा रोड मे10 लाख की लागत से बना सी.सी. रोड

झाबुआ।(कलसिह भुरिया की रिपोर्ट) मुख्यालय में बैठे अधिकारियों की नाक के नीचे लाखों रुपयों का भ्रष्टाचार ग्राम पंचायत पिपलिया पारा रोड द्वारा किया गया और जिम्मेदार अधिकारी अपने हिस्से का माल लेकर चुप्पी साधे बैठे गए, ग्राम पंचायत पिपलिया पारा रोड जहां पर लाखों रुपयों के कार्य किए गए लेकिन वह गुणवत्ता और उचित मापदंड को पूरी तरह दरकिनार कर दिया, वही ग्राम पंचायत से लेकर जनपद स्तर तक अपनी जिम्मेदारी के साथ कार्य की गुणवत्ता की मॉनिटरिंग करने वाले अधिकारी सरपंच सचिवों की जेब में है, सरपंच द्वारा जब चाहा जैसे चाहा वैसे इन्हें उनके पावर का इस्तेमाल करवा देते हैं। ग्राम पंचायत पिपलिया पारा रोड के हाल भी ठीक इसी तरह है जहां पर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मंडलोई और उनके अधीनस्थ पंचायतों में कार्यों की सतत मॉनिटरिंग करने वाले उपयंत्री और सरपंच सचिव रोजगार सहायक इन पांचों द्वारा पंचायत क्षेत्रों के विकास मैं आने वाली अलग-अलग मदों की राशि में अपना -अपना निर्धारित हिस्सा तय कर लिया और पंचायत में घटिया निर्माण करवा कर लोगों के सामने अपनी सक्रियता की ताल ठोकते हुए पीठ थपथपा ली। ग्राम पंचायतों में किए जाने वाले निर्माण कार्य जिसकी निगरानी जनपद उपयंत्री द्वारा की जाती है जहां कहीं कार्य की गुणवत्ता और निर्धारित मापदंड नहीं होने पर आपत्ती के साथ सही एवं दूरस्थ करवाया जाता है गंभीर आरोप होने पर रिकवरी का भी प्रावधान है लेकिन यहां बहती गंगा में हाथ धोने में ही अपना मूल कर्तव्य समझ बैठे झाबुआ जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और उपयंत्री जिस कारण ग्राम पंचायत पिपलिया पारा रोड मैं विगत वर्ष 26 जनवरी 2019 में स्वीकृत सीसी सड़क निर्माण जो कि सुखराम के घर से आंगनवाड़ी तक बनाया गया जिसकी लागत 10 लाख रुपए थी लेकिन 1 वर्ष में ही दस लाख का यह रोड पूरी तरह उखड़ चुका है और निर्माण कार्य में डाली गई गिट्टी रोड पर उखड़ कर पड़ी है। सीसी सड़क निर्माण की स्वीकृति 26 जनवरी 2019 को हुई जिसकी फंडिंग एसटी/ एससी वेलफेयर डिपार्टमेंट द्वारा की गई। यह सीसी रोड 390.7 मीटर बनाना था, इसका टीएस नंबर 1170 है, इस कार्य की एटीएस दिनांक 17 जुलाई 2019 को हुई थी, इस पूरे कार्य में अधिकांश भुगतान साजन कृषि फार्म प्रोपराइटर साजन मेडा एवं जया तिवारी को किया गया। उक्त जानकारी स्थानीय रहवासियों द्वारा नाम नहीं छापने की शर्त पर दी है।

यह बोले जिम्मेदार

मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मंडलोई संपर्क करने पर उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत पिपलियापाला रोड के सीसी सड़क निर्माण कार्य को मैं दिखाता हूं कुछ पाया जाता है तो उचित कार्रवाई की जाएगी। सचिव द्वारा मुझे किसी प्रकार की जानकारी नहीं दी गई।

इस संबंध में ग्राम पंचायत सचिव नरवरसिह भूरिया से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि सरपंच और रोजगार सहायक अपनी मर्जी से कार्य करते हैं मुझ पर बेवजह दबाव बनाकर नियम विरुद्ध कार्य करवाते हैं जिसकी सूचना मेरे द्वारा मुख्य कार्यपालन अधिकारी को दे दी गई है।

नोट-: अगले अंक में पढ़िए इसी ग्राम पंचायत के काले कारनामे।

Leave a Reply