सी.पी.आई.कोण्डागांव ने सौंपा ज्ञापन, अ.भा.कांग्रेस पार्टी द्वारा किए चुनावी घोशणा पत्र पर तत्काल अमल किए जाने….

छत्तीसगढ़ कोण्डागाँव से
संतोष सावरकर

सी.पी.आई.कोण्डागांव ने सौंपा ज्ञापन, अ.भा.कांग्रेस पार्टी द्वारा किए चुनावी घोशणा पत्र पर तत्काल अमल किए जाने

छ.ग.राज्य विधान सभा चुनाव के दौरान अ.भा.कांग्रेस औपार्टी द्वारा अपने किए चुनावी घोशणा पत्र पर तत्काल अमल किए जाने हेतु सी.पी.आई.कोण्डागांव ने जिला सचिव तिलक पाण्डे के नेतृत्व में कलेक्टर कार्यालय में पहुंचकर मुख्य मंत्री छ.ग.षासन के नाम प्रेशित ज्ञापन को कलेक्टर कोण्डागांव के माध्यम से आवक-जावक में दिया गया। छ.ग.राज्य विधान सभा चुनाव के दौरान 2017-18 में अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी द्वारा अपने चुनावी घोशणा पत्र में विभिन्न लोक-लुभावन वादे किये थे, जिन वादों की वजह से छत्तीसगढ़ की जनता ने कांग्रेस पार्टी को प्रदेष की कमान सौंपी थी, परन्तु आज दिनांक तक कांगेस पार्टी अपने घोशणा पत्र पर पूरी तरह अमल नहीं कर पायी है जिससे राज्य की जनता को कोई लाभ प्राप्त नहीं हो पाया है। अतः कांग्रेस पार्टी अपने द्वारा की गई- सत्ता में आने के तत्काल बाद राज्य में शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लागू करने, प्रत्येक परिवार को एक रुपये की दर से 35 किलो चावल प्रत्येक माह देने, राजीव मित्र योजना के तहत 10 लाख बेरोजगार युवाओं को मासिक अनुदान प्रदान किये जाने, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट तत्काल लागु करते हुए, कृषि फसलों के लिए एमएसपी तय करने, धान के लिए एमएसपी 2500 रूपए प्रति क्विंटल और मक्का के लिए 1700 रूपए प्रति क्विंटल देने, 60 वर्ष से अधिक उम्र के किसानों के लिए पेंशन का प्रावधान किये जाने, बस्तर और सरगुजा जैसे अनुसूचित क्षेत्रों में ग्राम सभा को शराबबंदी का अधिकार देने, राज्य में लोकपाल अधिनियम लागू कर मुख्यमंत्री, मंत्री और सभी अधिकारियों को इसके अधीन लाए जाने, प्रत्येक नक्सल प्रभावित पंचायत को सामुदायिक विकास कार्यों के लिए एक करोड़ रुपये देने, राज्य में पत्रकारों, वकीलों और डाक्टरों के संरक्षण के लिए विशेष कानून बनाए जाने, शहरी तथा ग्रामीण परिवारों के लिए आवास का प्रावधान और भूमि देने, युवाओं के लिए कार्यक्रम और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने, मेडिकल बोर्ड में 1000 विशेषज्ञों को लाने के सहित 6 मेडिकल कॉलेजों को मल्टी स्पेशियलिटी अस्पतालों में परिवर्तित करने, राज्य के बस्तर, सरगुजा और सुपेबेडा जैसे क्षेत्रों के लिए एयर एम्बुलेंस दिये जाने, राज्य में शिक्षा की गुणवत्ता पर जोर देते हुए शिक्षा प्रणाली में सुधार को घोषणा पत्र में प्राथमिक रूप से सूचीबद्ध करने, शिक्षकों के लिए पहले वर्ष में शिक्षक छात्र अनुपात को संतुलित करने के लिए 50,000 पद भरने, लगभग 85 वन फसलों पर एमएसपी में बढ़ोतरी और तेंदुपत्ता श्रमिकों के लिए 4000 रुपये प्रति बोरा देने, दैनिक मजदूरों के लिए एक सम्मानजनक आय सुनिश्चित करने, तृतीय और चतुर्थ वर्ग के कमर्चारियों की आय में वृद्धि, पुलिस परिवारों को पेंशन में वृद्धि, खेल हॉस्टल की स्थापना, आर्थिक रूप से कमजोर खिलाडियों के लिए छात्रवृत्ति का प्रावधान भी शामिल करने आदि प्रमुख घोशणाओं को जल्द से जल्द पूरा करे। छग राज्य में अ.भा.कांग्रेस पार्टी की सरकार को दो वर्श पूर्ण हो चुके हैं और प्रदेष की समस्याएं ज्यों की त्यों बनी हुए है। सरकार उक्त मांगों को पूर्ण करने में इन दो वर्शो में पूर्णतः असफल रही है। भारतीय कम्युनिश्ट पार्टी, राज्य षासन से मांग करती है कि चुनाव के दौरान जारी उक्त घोशणा पत्र पर तत्काल अमल करते हुए अपने वादों को पुरा करे। इस दौरान राज्य परिशद् सदस्य षैलेष षुक्ला, जयप्रकाष नेताम, दिनेष मरकाम, मुकेष मण्डावी, बिसम्बर मरकाम, रामचंद नाग, फगनू पोयाम, नंदलाल नेताम, रामकुमार नेताम, घनष्याम मरकाम, गंगाधर नेताम, कृश्णा नेताम, लक्ष्मीनाथ नेताम, धनसिंह नेताम आदि कम्युनिश्ट मौके पर मौजुद रहे

Leave a Reply