हरिहर विहार कॉलोनी सुभाष नगर में रहने वाले दंपत्ति ने फेरी लगाकर ताला सुधारने वाले दो युवकों

उज्जैन। को ताला सुधारने के लिये घर बुलाया। दोनों बदमाश ताला सुधारने के बहाने गोदरेज में रखे सोने के आभूषण चोरी कर ले गये। ठगाये दंपत्ति ने नीलगंगा थाने पहुंचकर चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

पुलिस ने बताया कि राधा राठौर पति बंशी राठौर (39) निवासी हरिहर विहार कॉलोनी के घर के बाहर सुबह 11 बजे दो युवक ताला सुधरवा लो की आवाज लगा रहे थे। राधा ने उन्हें घर बुलाया। बाउण्ड्री में बैठाकर घर में रखा ताला लेकर सुधारने को दिया। युवकों ने कहा कि गोदरेज की चाबी लेकर आओ उससे ताला खुलेगा। राधा गोदरेज की चाबी लेकर आईं जिसे ताले में लगाने के बाद एक युवक ने हथौड़ा मारा जिससे गोदरेज की चाबी तिरछी हो गई। राधा राठौर ने युवकों से कहा कि तुमने गोदरेज की चाबी खराब कर दी अब लॉकर नहीं खुलेगी। इस पर युवकों ने कहा आप पहले लॉकर खोलकर देख लो नहीं तो चाबी सीधी कर देते हैं। महिला कमरे में पहुंची और लॉकर का ताला खोलने लगीं लेकिन वह नहीं खुला। पीछे से दोनों युवक भी कमरे में पहुंच गये। एक युवक ने लॉकर खोलने के लिये चाबी घुमाई फिर कहा कि चाबी को गैस पर गर्म करके ले आओ। राधा चाबी लेकर किचन में गईं और कुछ ही मिनिट में वापस लौटीं तो युवक ने चाबी सीधी कर गोदरेज की लॉकर खोल दी। उसे बाहर निकालकर राधा से कहा कि इसमें रखा सामान निकाल लो। राधा के पति बंशी राठौर ने थैली में लॉकर का सामान निकाला। कुछ देर में चाबी से लॉकर ठीक करने के बाद युवकों ने काम के बदले 20 रुपये लिये और चले गये।

चोरी का पता चलते ही तलाशा, लेकिन नहीं मिले
राधा चोरी की रिपोर्ट लिखाने अपने बेटे नितेश राठौर के साथ नीलगंगा थाने पहुंची और पुलिस को बताया कि ताला सुधारने के बहाने 25-30 वर्ष के दिखने वाले युवकों ने कब गोदरेज की लॉकर से सोने की चूड़ी व कान के टाप्स निकाल लिये पता ही नहीं चला। जब युवकों के जाने के बाद लॉकर में सामान रखने लगे तो उक्त आभूषण नहीं मिले। इस पर दोनों युवकों के आसपास में तलाश की और नहीं मिलने पर थाने पहुंची।

अलर्ट : स्थायी दुकान पर ही रिपेयरिंग कराएं
लोगों सतर्कता से ही ठगी का शिकार होने से बच सकते हैं। ठगी करने वाले बदमाश वारदात के बाद शहर छोड़कर चले जाते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार लोग फेरी लगाकर सामान बेचने वालों अथवा गैस, ताला, कूकर रिपेयर करने, सोने चांदी के आभूषण चमकाने वालों से काम कराने से बचें। स्थायी दुकान पर जाकर ही जरूरी रिपेयरिंग के काम कराएं। यदि बहुत जरूरी काम हो तो कारीगर को घर के बाहर ही रखें उन्हें घर में प्रवेश न दें। लोग फेरी%

Leave a Reply