हेड कोच रवि शास्‍त्री पर पूछा सवाल तो सौरव गांगुली ने कसा तंज, दिया ये बड़ा बयान

विशेष संवाददाता केशब बस्‍याल शर्मा बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) के तौर पर पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के नाम का ऐलान 23 अक्टूबर को किया जाएगा. टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) से उनके रिश्ते तल्‍खी भरे रहे हैं.

 भारतीय क्रिकेट प्रशासन में बदलाव का दौर शुरू हो चुका है और 23 अक्टूबर को टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को बीसीसीआई (BCCI) का नया अध्यक्ष घोषित कर दिया जाएगा. सौरव गांगुली इससे पहले साल 2015 से बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहे हैं. सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) बनने से जहां उनके प्रशंसकों में खुशी की लहर है, वहीं कुछ लोग ये भी कयास लगा रहे हैं कि अब टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) की चुनौती बढ़ने वाली है. दरअसल, ये बात किसी से छिपी नहीं है कि सौरव गांगुली और रवि शास्‍त्री के रिश्ते बीते कुछ समय से अच्छे नहीं रहे हैं.

रवि शास्‍त्री से बात करने के सवाल पर गांगुली ने दिया ये बयान
सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) से जुड़े सवाल पर कहा कि पहले वह चयनकर्ताओं से बात करेंगे, उसके बाद ही अपनी राय जाहिर करेंगे. हालांकि जब उनसे पूछा गया कि वह धोनी से बात करेंगे तो उन्होंने कहा कि मैं अभी बीसीसीआई अध्यक्ष बना ही हूं. मुझे थोड़ा वक्त दीजिए. गांगुली से फिर पूछा गया कि क्या वह रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) से इस बारे में बात करेंगे, तो उन्होंने मुस्कुराते हुए दो-टूक कहा, ‘क्यों? रवि शास्‍त्री ने अब क्या कर दिया?’

कोलकाता. भारतीय क्रिकेट प्रशासन में बदलाव का दौर शुरू हो चुका है और 23 अक्टूबर को टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को बीसीसीआई (BCCI) का नया अध्यक्ष घोषित कर दिया जाएगा. सौरव गांगुली इससे पहले साल 2015 से बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहे हैं. सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) बनने से जहां उनके प्रशंसकों में खुशी की लहर है, वहीं कुछ लोग ये भी कयास लगा रहे हैं कि अब टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) की चुनौती बढ़ने वाली है. दरअसल, ये बात किसी से छिपी नहीं है कि सौरव गांगुली और रवि शास्‍त्री के रिश्ते बीते कुछ समय से अच्छे नहीं रहे हैं.

रवि शास्‍त्री से बात करने के सवाल पर गांगुली ने दिया ये बयान
सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) से जुड़े सवाल पर कहा कि पहले वह चयनकर्ताओं से बात करेंगे, उसके बाद ही अपनी राय जाहिर करेंगे. हालांकि जब उनसे पूछा गया कि वह धोनी से बात करेंगे तो उन्होंने कहा कि मैं अभी बीसीसीआई अध्यक्ष बना ही हूं. मुझे थोड़ा वक्त दीजिए. गांगुली से फिर पूछा गया कि क्या वह रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) से इस बारे में बात करेंगे, तो उन्होंने मुस्कुराते हुए दो-टूक कहा, ‘क्यों? रवि शास्‍त्री ने अब क्या कर दिया?’

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के सबसे सफल कप्तानों में शुमार सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने 49 टेस्ट मैचों में टीम की अगुआई की थी. गांगुली से जब पूछा गया कि कपिल देव की अध्यक्षता वाले पैनल की वैधता पर सवाल उठाए जाने के बाद क्या हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) की नियुक्ति पर चर्चा की जाएगी तो उन्होंने इससे इनकार कर दिया. गांगुली ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि इससे रवि शास्त्री के चयन पर असर पड़ेगा. हालांकि मैं किसी चीज को लेकर तय नहीं हूं. हमने तब भी कोच का चयन किया जबकि हितों के टकराव का मुद्दा था.’

चयनसमिति में कुछ बदलाव होंगे
सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने साथ ही कहा, ‘(पांच साल के नियम के अनुसार) देवांग गांधी और जतिन परांजपे चयनकर्ता के रूप में अपने पद पर बरकरार रहने के पात्र हैं. हालांकि कुछ बदलाव होंगे. हमें देखना होगा कि किसके कार्यकाल का कितना समय बचा है. मैं पहले ही इंडियन प्रीमियर लीग दिल्ली कैपिटल्स से इस्तीफा दे चुका हूं, लेकिन एमसीसी बोर्ड का सदस्य बना रहूंगा. आईसीसी में बीसीसीआई के प्रतिनिधित्व पर गांगुली ने कहा कि इसका फैसला शीर्ष परिषद करेगी. गांगुली ने साथ ही बताया कि शिखर धवन, ऋषभ पंत, अजिंक्य रहाणे, जसप्रीत बुमराह, जहीर खान, वीरेंद्र सहवाग और हरभजन सिंह के अलावा अर्जुना रणतुंगा, सनथ जयसूर्या और नासिर हुसैन जैसे पूर्व और मौजूदा खिलाड़ियों ने उन्हें बधाई दी है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: