होशंगाबाद जिले की रेत का
ठेका आरकेटीसी कंपनी ने लिया है
पहली बार इटारसी के पास स्थित पवारखेड़ा मालगोदाम से 53 डिब्बों की मालगाड़ी से भेजी रेत

होशंगाबाद से दिव्या मेहरा की ख़बर।
पश्चिम मध्य रेल ने इटारसी के पास स्थित पवारखेड़ा पवारखेड़ा माल गोदाम से 123 टन रेत का एक रेक मंगलिया गांव देवास भेजा गया है। अब नर्मदा की रेत का परिवहन मालगाड़ी के रेको से होगा पवारखेड़ा से पहली बार 3123 टन रेत (sand) का एक रेक मंगलिया गांव (देवास) भेजा गया भोपाल मण्डल द्वारा रेलवे के जरिये ज्यादा से ज्यादा माल लदान को बढ़ावा देने के लिए व्यापारियों से संपर्क साध कर उन्हें इस ओर आकर्षित करने के लिए निरन्तर प्रयास किया जा रहा है। और जिसके परिणामस्वरूप माल लदान से जुड़े व्यापारी अपने माल को रेलवे के जरिये परिवहन करने में रुचि ले रहे हैं। गौरतलब रहे कि अब होशंगाबाद की पवित्र नदी नर्मदा, व तवा की रेत का परिवहन दूरस्थ राज्यो व जिलो मे डंपरो के द्वारा ना होकर पश्चिम मध्य रेलवे भोपाल मंडल की मालगाडियो के रेक के जरिये किया जायेगा। रेत ठेका कंपनी आरकेटीसी के अधिकारियों और पश्चिम मध्य रेलवे भोपाल मंडल के वरिष्ठ अधिकारीयो के बेहतर तालमेल और वाणिज्य संसाधनो को देखते हुए ठेकेदार का यह कदम सराहनीय है। अभी कुछ पूर्व भोपाल मण्डल के पोवारखेड़ा रेल्वे स्टेशन (माल गोदाम) से पहली बार मालगाड़ी के 53 डिब्बों वाली मालगाड़ी का एक रैक भरकर गया। जिससे रेलवे को 15.33 लाख रुपए का राजस्व पाया है।

Leave a Reply