महिदपुर एस डी एम एवं तहसीलदार ने प्रदेश मुख्यमंत्री के आदेशों का कर दिया हवन।
दलित व्यक्ति के 10 वर्ष में भी पट्टा आवंटित नहीं।

महिदपुर एस डी एम एवं तहसीलदार ने प्रदेश मुख्यमंत्री के आदेशों का कर दिया हवन।
दलित व्यक्ति के 10 वर्ष में भी पट्टा आवंटित नहीं।

महिदपुर।गाढी कमाई से बसाये आशियाना को कर दिया ध्वस्त मावठे व ठंड के दौरान नन्हे चार बच्चे व बड़े बूढ़े खुले आसमान के तले जूझ रहे जीवन मृत्यु से।
एक और प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश के भूमिहीन व आवास विहिनो को पट्टा देने की घोषणा कर बाकायदा कैबिनेट में अनुमोदन करवा गजट नोटिफिकेशन भी राजस्व अधिनियम में करवा दिया गया।
किंतु महिदपुर एसडीएम कैलाश चंद्र ठाकुर एवं तहसीलदार तथा नगर पालिका सीएमओ कैलाश चंद्र वर्मा के समक्ष प्रदेश के राजा शिवराज सिंह चौहान के आदेशों एवं महामहिम राज्यपाल के आदेशों का शायद कोई महत्व नहीं दिखाई देता है।
महिदपुर शहर के गणेश चौपाटी स्थित बनी, सेमलिया रोड पर संजय सूर्यवंशी एवं रसूलपुरा ईश्वर राठौर विगत आठ, दस वर्षों से अपनी गाढ़ी कमाई से आवाज निर्माण कर चैन की जिंदगी जी रहे थे। पर किसे पता था कि इन दोनों परिवारों पर भू माफियाओं की नजरें लगी हुई है। नगर में सक्रिय भूमाफिया ओने पौने दामों में भूमि हाथिया उसके आसपास की शासकीय भूमियों को हड़पने की साजिश में लगे हुए हैं, स्थानीय प्रशासन उनके इशारों पर गरीबों के आशियाना तोड़कर उन भू माफियाओं को रिक्त भूमि तस्तरी में परोसने में दिखाई देते हैं।
इसीलिए बनी शिमला रोड निवासी संजय सूर्यवंशी को अपने आवास से बेदखल करने की नियत से एसडीएम कैलाश चंद्र ठाकुर एवं तहसीलदार ने मकान तोड़ने की चेतावनी दे दी एक गरीब व्यक्ति कैसे अपने बने बनाए आशियाना को नष्ट कर रहे, संजय सूर्यवंशी पिछले आठ दस वर्ष से पट्टे की मांग करता आ रहा है किंतु पूरे शहर में एक समाज विशेष को धड़ल्ले से पट्टे आवंटित कर उनके प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री आवास की राशियों भी जारी कर दी गई किंतु दलित व्यक्ति को पटा नहीं दिया और जब संजय ने बारिश में मकान तोड़ने में असमर्थ था दिखाई उसको पुलिस द्वारा उठाया कर एसडीएम कैलाश चंद्र ठाकुर ने जेल भिजवा दिया 14 दिन तक जमानत नहीं लेकर उसे जेल में निरोध रखा और जेल से बाहर आते ही उसके मकान को एसडीएम एवं तहसीलदार ने नगर पालिका की जेसीबी मशीन मंगवा कर 18 नवंबर को तोड़ दिया।
इतना ही नहीं एसडीएम से संजय को जेल भिजवाने के वक्त उसकी पत्नी एसडीएम के समक्ष निवेदन करने पहुंची तो एसडीएम कैलाश चंद्र ठाकुर ने तमाम नैतिकता व मर्यादा को तार-तार करते हुए उक्त महिला से कहा कि तुमने मुझसे पूछ कर मकान बनाया या मुझसे पूछ कर तुमने शादी की व बच्चे पैदा किए इस तरह से एक महिला से बदतमीजी से जो शब्द कहे एक वरिष्ठ अधिकारी के पद व परिष्ठा के खिलाफ होकर नारी जाति व दलित महिला को अपमानित करने वाले हैं, इसी पूरी घटना की जानकारी भीम आर्मी को मिली उन्होंने तहसील कार्यालय पहुंचकर पीड़ित दलितों एवं कार्यकर्ताओं के साथ तहसील कार्यालय में धरना प्रदर्शन कर जिलाधीश उज्जैन के नाम ज्ञापन देते हुए दोषी अधिकारियों को निलंबित करने की मांग की। तथा तोड़े गए दलितों के आवास का पूर्ण निर्माण करवाकर उनको क्षतिपूर्ति देने की मांग भीम आर्मी के सैनिकों के जिलाध्यक्ष नागुलाल मालवीय एवं मालवा निमाड़ के प्रभारी दूल्हे सिंह रावण एवं भीम आर्मी महिदपुर पदाधिकारियों ने करते प्रशासन को चेतावनी दी कि यदि शीघ्र ही कार्रवाई नहीं की तो भीम आर्मी सैनिक उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगी जिसकी संपूर्ण जवाबदारी महिदपुर प्रशासन की होगी।

Leave a Reply