वाणिज्य और उद्योग के क्षेत्र में किसी भी संभावित व्यवधान से बचने के लिए केंद्र ने स्थापित किए हेल्पडेस्क और कंट्रोल रूम कोविड के समय में बिना किसी प्रतिबंध के सामान और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करता है डीपीआईआईटी हेल्पडेस्क महामारी बढ़ने पर अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का सहयोग करने के लिए विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने कोविड-19 हेल्पडेस्क खोला है

देश भर में कोविड मामलों में वृद्धि को देखते हुए उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने कोविड मामलों के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए विभिन्न राज्य सरकारों/केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा उठाए गए कदमों का संज्ञान लिया है। इसलिए एहतियात के तौर पर हमारे व्यापार इको-सिस्टम का समर्थन करने के लिए डीपीआईआईटी विभिन्न राज्य सरकारों/केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों (यदि कोई हो) के कारण माल और आवश्यक वस्तुओं के परिवहन और वितरण के दौरान उत्पन्न होने वाली स्थिति और मुद्दों (यदि कोई हो) की निगरानी करेगा।

निर्माण, परिवहन, वितरण, थोक या ई-कॉमर्स कंपनियों को माल के परिवहन और वितरण या संसाधनों को जुटाने में किसी भी तरह की परेशानी का सामना करना पड़े तो इसकी सूचना इस विभाग को निम्नलिखित टेलीफोन नंबर/ईमेल पर दी जा सकती है :

टेलीफोन नंबर + 91 11 23063554, 23060625

ईमेल : dpiit-controlroom@gov.in

उपरोक्त टेलीफोन नंबर 05.01.2022 से सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक काम कर रहे हैं। इस नियंत्रण कक्ष के माध्यम से विभिन्न साझेदारों द्वारा रिपोर्ट किए गए मुद्दों को संबंधित राज्य/संघशासित क्षेत्र सरकारों के समक्ष उठाया जाएगा। इसलिए साझेदारों से अनुरोध है कि वे उपरोक्त सेवाओं को प्रभावित करने वाले मुद्दों के बारे में नियंत्रण कक्ष को सूचित करें।

निर्यात व आयात की स्थिति और कोविड-19 मामलों की वृद्धि को देखते हुए वाणिज्य विभाग और विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने व्यापार हितधारकों के सामने आने वाली कठिनाइयों की निगरानी करने का भी कार्य किया है। डीजीएफटी ने अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के संबंध में उत्पन्न होने वाले मुद्दों का समर्थन करने और उपयुक्त समाधान खोजने के लिए “कोविड-19 हेल्पडेस्क” का संचालन किया है।

“कोविड-19 हेल्पडेस्क” वाणिज्य विभाग/डीजीएफटी, आयात व निर्यात से जुड़े लाइसेंसिंग मुद्दों, सीमा शुल्क निकासी में देरी और उस पर उत्पन्न होने वाली जटिलताओं, आयात/निर्यात दस्तावेज से संबंधित मुद्दों, बैंकिंग मामलों आदि से संबंधित मुद्दों को देखेगा।

हेल्पडेस्क केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के अन्य मंत्रालयों/विभागों/एजेंसियों से संबंधित व्यापार संबंधी मुद्दों को एकत्र कर उसका मिलान करेगा और उनका सहयोग लेने और यथासंभव समाधान देने के लिए समन्वय भी करेगा।

निर्यात-आयात समूह निम्नलिखित चरणों का उपयोग करके डीजीएफटी वेबसाइट पर सूचना दे सकता है और अपने मुद्दों से संबंधित जानकारी पेश कर सकता है जिन पर सहयोग की आवश्यकता है।

  1. डीजीएफ की वेबसाइट (https://dgft.gov.in ) — पर जाएं– > सेवाएं — >डीजीएफटी हेल्पडेस्क सेवाएं
  2. “नया आवेदन बनाएं” और श्रेणी को “कोविड-19” के रूप में चुनें
  3. उपयुक्त उप श्रेणी का चयन करें, अन्य प्रासंगिक विवरण दर्ज कर उसे जमा कर दें।

वैकल्पिक रूप में मुद्दों को ईमेल आईडी : dgftedi@nic.in पर सब्जेक्ट शीर्षक में कोविड-19 हेल्पडेस्क के साथ भेजा जा सकता है, या टोल फ्री नंबर 1800-111-550 पर फोन किया जा सकता है।

डीजीएफटी हेल्पडेस्क सेवाओं के तहत स्टेटस ट्रैकर का उपयोग करके प्रस्तावों और फीडबैक की स्थिति को खोजा जा सकता है। इन टिकटों की स्थिति अपडेट होने पर ईमेल और एसएमएस भी भेजे जाएंगे। व्यापार से जड़े समूहों से अनुरोध है कि कृपया वे दी गई सुविधाओं का उचित उपयोग करें।

Leave a Reply