दिग्‍गी समर्थक मानक अग्रवाल की सिंघार को नसीहत, डम्‍पर कांड के सौदेबाज मंत्री हैसियत ना भूलें

भोपाल. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कई साल की कोशिश के बाद कांग्रेस ने शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को सत्‍ता से बाहर कर दिया, लेकिन जब से कमलनाथ (Kamal Nath) ने कमान संभाली है तब से कांग्रेस (Congress) के नेताओं में घमासान मचा हुआ है. इन विवादों में सबसे ताजा और चर्चित है वन मंत्री उमंग सिंघार (orest Minister Umang Singhar) बनाम पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister Digvijay Singh) की लड़ाई. जी हां, सिंघार के दिग्‍गी के खिलाफ मोर्चा खोलने के बाद तमाम बयानवीर सामने आ रहे हैं. कांग्रेस में मानो एक दूसरे पर आरोप लगाने की होड़ सी मच गई है. इसी कड़ी में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मानक अग्रवाल भी दिग्विजय सिंह के समर्थन में उतर आए हैं.

अग्रवाल ने सिंघार पर लगाया ये आरोप
मानक अग्रवाल का कहना है कि उमंग सिंघार भाजपा का मोहरा हैं. वह भाजपा के हाथों खेल रहे हैं और भाजपा उमंग को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है. वह जमुनादेवी की विरासत को बदनाम कर रहे हैं.

मानक अग्रवाल ने उमंग पर आरोप लगाते हुए कहा कि उमंग बस भाजपा का टूल बन रहे हैं. उनके (उमंग) भाजपा नेताओं से संपर्क रहे हैं. सच कहा जाए तो उमंग सिंघार का लगातार मेल मिलाप भाजपा नेताओं से रहा है. मध्य प्रदेश भवन में किन-किन भाजपा नेताओं से उनकी बात और मुलाकात होती है. उन सबके नाम हमें पता हैं और सारे सबूत हमारे पास हैं.

दिग्विजय सिंह बनाम उमंग सिंघार.

दिग्विजय सिंह ने किया समन्वय का काम

Sponsored by MGIDक्या आप जानते हैं भारत की पहली महिला डॉक्टर कौन थी?
पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर उमंग ने जिस तरह के आरोप लगाए है या जिस तरीके से उन्होंने ये बातें कही हैं, आज तक कोई नहीं कह पाया है. पूरे प्रदेश में दिग्विजय सिंह ने समन्वय का काम किया है. ऐसा काम किया है जिसके चलते मप्र में कांग्रेस की सरकार बनी है. यकीनन आज भी उनके पास बहुत सारे लोग काम लेकर पहुंचते हैं. दिग्विजय सिंह सभी की सुनते हैं और उनकी कार्यशैली है पत्र लिखना. पत्र के जरिए काम के विकास की जानकारी लेना गलत नहीं है.

हैसियत ना भूलें मंत्री
मंत्री उमंग सिंघार को अपनी हैसियत ना भूलने की मानक अग्रवाल ने नसीहत दी है. मानक अग्रवाल ने कहा कि है कि वो मंत्री बन गए हैं, लेकिन अपनी हैसियत जरूर याद रखें. हम सबको पता है कि डंपर कांड में मंत्री ने सौदेबाजी की थी.

उमंग को सीएम से करनी थी शिकायत
कांग्रेस में अनुशासन है और अनुशासन हमेशा रहेगा, सब एकजुट है. उमंग भाजपा के हाथों में हैं. सीएम कमलनाथ उनके उपर कार्रवाई करेंगे, तो बाकी सब शांत हो जाएंगे. यकीनन कार्रवाई से ये संदेश प्रदेश में जाएंगा कि भाजपा के हाथों खेलने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. जबकि आगे ऐसे कोई भी उमंग सिंघार बनने की हिम्मत नहीं करेगा.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s