विवाद / मंत्री के बर्थडे के बधाई पोस्टर हटाने गई निगम टीम से कांग्रेसियों ने की हुज्जत, मीडिया से कैमरा बंद करने को कहा


विवाद / मंत्री के बर्थडे के बधाई पोस्टर हटाने गई निगम टीम से कांग्रेसियों ने की हुज्जत, मीडिया से कैमरा बंद करने को कहा


निगम उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान टीम के साथ होर्डिंग्स हटाने पहुंचे थे

कांग्रेसियों द्वारा विवाद किए जाने के बाद पुलिस की मदद से हटाए पोस्टर

DG News .
Nov 06, 2019, 06:32 PM

इंदौर. जन्मदिन, बधाई, रैली और धार्मिक अवसरों पर नेताओं के होर्डिंग्स व विज्ञापन लगाए जाने को लेकर राज्य सरकार द्वारा सख्ती बरतने की बात कही गई, लेकिन मंगलवार को इंदौर की सड़क पर इससे उलट नजारा देखने को मिला। यहां मंत्री के जन्मदिन पर लगे पोस्टरों को हटाने पहुंची निगम टीम से कांग्रेसी भिड़ गए, इस दौरान मीडिया को भी कैमरा बंद करने को कहा गया। काफी हुज्जत के बाद टीम ने पुलिस की मौजूदगी में पोस्टर हटाए।
मिली जानकारी अनुसार स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के जन्मदिन के मौके पर मंगलवार को कांग्रेसियों द्वारा बधाई संदेश देते हुए सड़क किनारे पोस्टर लगाए गए थे। पोस्टर लगे होने की सूचना के बाद उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान निगम टीम के साथ इन्हें हटाने पहुंचे। छावनी क्षेत्र में पोस्टर हटाने के दौरान कुछ कांग्रेसी मौके पर पहुंचे और निगम से कार्रवाई रोकने को कहने लगे। चौहान ने उन्हें बताया कि कमिश्नर साहब के निर्देश पर इन्हें हटाया जा रहा है। यह सुन वे बिफर गए और जमकर बहस हुई। इसके बाद निगम टीम ने पुलिस से संपर्क कर उनकी मौजूदगी में पोस्टर हटाए।

ऐसे में कहना लाजमी होगा कि नियम कायदों और आदेशों का पाठ पढ़ाने वाले मंत्री जी अपने ही मुखिया के आदेश का पालन अपने समर्थकों से करवाने में असफल साबित हो रहे है। गौरतलब है कि सार्वजनिक स्थानों पर अवैध होर्डिंग्स और बैनर को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्पष्ट निर्देश दिए है यदि उनका स्वयं का पोस्टर भी हो तो हटा दिया जाए। विवाद के दौरान जब मीडियाकर्मी ने मामले को कवर करने की कोशिश की तो उसे भी कैमरा बंद करने काे कहा गया।


सीएस ने सभी संभागायुक्त और कलेक्टर को दिए थे निर्देश
शहरों में अवैध होर्डिंग, कटआउट, गेंट्री, बैनर-पोस्टर को हटाने के लिए पीएस ने हाल ही में सभी संभागायुक्त और कलेक्टर को निर्देश दिए थे। इसमें कहा गया थ कि होर्डिंग्स चाहे मुख्यमंत्री, मंत्री, अन्य नेता आदि किसी के भी हों, हटा दें। नेताओं के जन्मदिन, आगमन पर स्वागत व अभिनंदन के विज्ञापनों पर

रोक लगाने के लिए कैबिनेट ने आउटडोर विज्ञापन नियम-2017 और संपत्ति विरूपण अधिनियम-1994 के प्रावधानों काे और सख्त करते हुए उसका पालन करने की मंजूरी दी है। अब कलेक्टर से आउटडोर विज्ञापन के लिए अनुमति लेना होगी। उन्हें जुर्माना करने के अधिकार भी दिए हैं। यदि बिना अनुमति के कोई विज्ञापन लगता है तो संबंधित नगरीय निकाय के अधिकारी-कर्मचारी उसे हटाएंगे। इसमें लापरवाही बरतने पर उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s