Amla Side Effects: लो ब्लड प्रेशर वालों के लिए आंवला खाना हो सकता है खतरनाक, ब्लड शुगर वालों के लिए भी है खतरा

Amla Side Effects for Low Blood Pressure, Diabetes, Constipation, Cold and Cough: आंवला खाना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन साथ ही यदि आप जरूरत से ज्यादा आंवला खाते हैं तो लो ब्लड प्रेशर वालों के लिए घातक साबित हो सकता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए नुकसानदायक होता है।

Amla Side Effects: लो ब्लड प्रेशर वालों के लिए आंवला खाना हो सकता है खतरनाक, ब्लड शुगर वालों के लिए भी है खतरा

Amla Side Effects: आंवला खाना लो-ब्लड प्रेशर वालों के लिए नुकसानदायक होता है

Amla Side Effects for Low Blood Pressure, Diabetes, Heart Patient: स्वस्थ और हेल्दी रहने के लिए सबसे जरूरी हेल्दी डाइट फॉलो करना होता है। ठंड के मौसम में लोग आंवला खाना पसंद करते हैं क्योंकि इसमें बहुत से पोषक तत्व मौजूद होते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि इसके साइड इफेक्ट भी होते हैं? लो ब्लड वाले लोगों के लिए आंवला खाना नुकसानदायक साबित हो सकता है, साथ ही डायबिटीज के मरीजों के लिए भी अच्छा नहीं होता है। आंवला का अधिक सेवन और भी कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। आइए जानते हैं किन लोगों को आंवला अपनी डाइट में शामिल नहीं करनी चाहिए-

लो ब्लड प्रेशर वालों के लिए: आंवला का सेवन करते समय हाइपोटेंशन या लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों को बहुत सावधान रहना चाहिए। यह फल ब्लड प्रेशर के स्तर को कम करने और इसे बनाए रखने की अपनी क्षमता के लिए जाना जाता है। यदि आप हाइपोटेंशन की दवा पर हैं तो आपको आंवला खाने से बचना चाहिए। इसके अलावा, एक्सरसाइज करने से आपके बीपी को स्थिर रखने में मदद मिलेगी।संबंधित खबरें

डायबिटीज वालों के लिए: अगर आपको कच्चा आंवला खाने की आदत है, तो यह डायबिटीज के लिए एक लाभकारी एंटीडोट है। हालांकि, यदि आप लगातार लो ब्लड शुगर की समस्या से पीड़ित हैं, या यदि आप एंटी-डायबिटीक मेडिकेशन पर हैं, तो इस फल का उपभोग करने का निर्णय लेने से पहले अपने डॉक्टर से जांच करना होगा। आंवला ब्लड शुगर के स्तर को कम करने के लिए जाना जाता है, जो एंटी-डायबिटीक मेडिकेशन में बाधा उत्पन्न कर सकता है, जो व्यक्ति को हाइपोग्लाइसीमिया या लो ब्लड शुगर की स्थिति के अधीन कर सकता है।

कुछ मामलों में कब्ज या दस्त का कारण हो सकता है: आंवला कब्ज के लिए एक अच्छा प्राकृतिक उपचार है। इस फल में मौजूद फाइबर कब्ज के लिए फायदेमंद होता है। हालांकि, यदि आप उच्च मात्रा में आंवला खाते हैं, तो यह कब्ज को सख्त कर सकता है। यदि आप पानी कम पीते हैं तो यह स्थिति और खराब हो सकती है। इसलिए, कब्ज को रोकने के लिए, पर्याप्त मात्रा में पानी के सेवन के साथ फलों का रस या सूखे आंवले के पाउडर को खाएं। लेकिन, यह कुछ मामलों में दस्त का कारण भी बन सकता है।

यह सर्दी-जुकाम के लक्षणों को खराब कर सकता है: आंवला एक प्राकृतिक शीतलक है और यह शरीर के तापमान को काफी हद तक कम करने की क्षमता रखता है। इसलिए इसका सेवन करने से जुकाम के लक्षण खराब हो सकते हैं। इसलिए यदि आप पहले से ही सर्दी-जुकाम से परेशान हैं तो इसे खाने से बचें।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s