सील किया था डॉक्टर का क्लिनिक, दो दिन बाद होने लगा इलाज

थाने में नहीं कराई एफआइआर

मुलताई. नगर में लगभग 10 दिन पूर्व स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग की संयुक्त टीम ने थाने के सामने स्थित कथित चिकित्सक मालवीय के दवाखाने पर छापामार कार्रवाही कर डिग्री नहीं मिलने पर दवाखाना सील कर दिया था। बीएमओ उदयप्रताप सिंह तोमर ने बताया था कि कथित डॉक्टर मालवीय के पास कोई डिग्री नहीं होने के बावजूद एलोपेथिक उपचार किया जा रहा था जहां से एलोपेथिक दवाएं भी जब्त की थी। इस दौरान चिकित्सक का बोर्ड भी जब्त कर थाना परिसर में रखा था। बीएमओ तोमर ने फर्जी चिकित्सक पर एफआईआर की कार्रवाई भी शीघ्र किये जाने का कहा था लेकिन दवाखाना सील करने के दो दिन बाद ही जहां दवाखाना खुल गया वहीं फर्जी चिकित्सक पर किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं होना स्वास्थ्य एवं राजस्व विभाग की कार्रवाई पर सवाल खड़े कर रहा है।
इधर बिना डिग्री के कथित चिकित्सक द्वारा पुन: दवाखाना संचालित करते हुए एलोपेथिक उपचार प्रारंभ कर दिया है। यहां सवाल यह उठता है कि जब स्वास्थ्य एवं राजस्व की टीम को चिकित्सक मालवीय के पास किसी प्रकार की कोई डिग्री नहीं मिली जिससे उन्हें दवाखाना सील करना पड़ा फिर दो दिन बाद ही बिना किसी कार्रवाई दवाखाना कैसे खुल गया। पूरे मामले में कार्रवाई करने वाले अधिकारियों द्वारा भी संतोषप्रद जवाब नही दिया जा रहा है। वहीं बिना डिग्री के चिकित्सक द्वारा खुलेआम ऐलोपेथिक उपचार करना जहां नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है।

बिना कार्रवाई के कैसे खुल गया क्लिनिक: कार्रवाई के समय बीएमओ उदयप्रताप सिंह तोमर ने बताया कि चिकित्सक द्वारा बोर्ड पर लिखित डिग्री भी मौजूद नहीं है वहीं दवाखाने में अवैध रूप से उपचार के लिए रखी एलोपेथिक दवाएं भी जब्त की हैं। इस पर उन्होंने फर्जी चिकित्सक पर एफआईआर कराने एवं दवाखाने में गंदगी होने से इसका अलग से प्रकरण बनने का बताया था। थाने के सामने क्लिनिक को विधिवत नायब तहसीलदार सृष्टि शाह की उपस्थिति में सील भी किया था बावजूद दो दिनों के बाद ही कैसे क्लिनिक खुल गया इसे लेकर आमजन में चर्चाएं हैं। पूरे मामले में अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं लेकिन थाने के सामने अवैध रूप से धड़ल्ले से दवाखाने में कथित चिकित्सक द्वारा उपचार किया जा रहा है।
इनका कहना है…

दवाखाना सील करने के बाद संचालक मालवीय द्वारा लिखित माफीनामा दिया गया था जिसके बाद उसे चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है, फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s