एड़ीचोटी का जोर लगाकर दौड़ लगाती रही पुलिस फिर भी कम नहीं हुए अपराध, जानिए क्या है वजह

लूट व डकैती के भी खूब हुए वारदात….

Singrauli police could not disclose many cases

सिंगरौली. देश में ऊर्जाधानी के नाम से मशहूर सिंगरौली में भी अपराध महानगरों की तर्ज पर होते हैं। बीते वर्ष 2019 की बात करें तो अपराध को कम करने पुलिस ने एड़ीचोटी का जोर लगा दिया था लेकिन फिर भी अपराध कम नहीं हुए। सालभर के दौरान छोटे-बड़े कुल 3363 अपराध पुलिस के सरकारी पन्नों में दर्ज हैं। इसमें गंभीर अपराधों में 138 अपहरण, 112 दुष्कर्म व 43 लोगों की हत्या हुई है। वहीं लूट व डकैती की बात करें तो इन घटनाओं को भी रोकने में पुलिस अपने मंसूबे पर कामयाब नहीं हो सकी।

ऐसा नहीं है कि अपराध रोकने का पुलिस ने प्रयास नहीं किया है। पुलिस का प्रयास ऐसा रहा कि एक तरफ पुलिस दौड़ लगाती रही। दूसरी ओर बदमाश बेखौफ होकर वारदात को अंजाम देते रहे। कहने को तो पुलिस लाख सुरक्षा का दावा करती है लेकिन स्थिति ठीक इसके विपरीत है। बदमाश यहां बेखौफ वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। गंभीर अपराधों पर नजर डालें तो यह घटनाएं लोगों में दहशत पैदा कर रहे हैं। पुलिस की लापरवाही कहें या फिर लचर कार्यशैली, नतीजा ये है कि वारदातें लगातार बढ़ रही हैं। जिसे रोकने में पुलिस हर मोर्चे पर नाकाम है।

चोरी व सेंधमारी भी कम नहीं
जिले में चोरी व सेंधमारी की घटनाएं भी कम नहीं हैं। बीते वर्ष जहां चोरी की 178 घटनाएं घटित हुई हैं। वहीं सेंधमारी की 98 वारदातों से लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। चोरी की घटनाओं से न केवल लोग भयभीत हैं बल्कि ये घटनाएं पुलिस को भी एड़ी चोटी का जोर लगाने पर मजबूर करती हैं। बतादें कि पुलिस ने लगभग चोरी व सेंधमारी की घटनाओं का खुलासा किया है। मगर, कुछ ऐसी भी बड़ी घटनाएं घटित हुई हैं जिनका सुराग पुलिस नहीं लगा पाई है।

बीते वर्ष की बड़ी घटनाएं:
केस-1
बंधौरा चौकी क्षेत्र अंतर्गत एक किशोरी का अपहरण करने के बाद आरोपी ने उसकी हत्या कर लाश को जंगल में फेंक दिया। घटना के बाद पुलिस ने मामले को दबाने का प्रयास किया लेकिन घटनाक्रम उजागर होने के बाद आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसे जेल भेज दिया है।

केस-2
सरई थाना क्षेत्र के घोघरा गांव में जादू टोना के शक में आरोपियों ने मिलकर रामसजीवन अगरिया पिता रामरतन अगरिया की हत्या कर दिया। घटना के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करने के बाद जेल भेज दिया है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s