बेरोजगारो से रेल्वे में नौकरी के नाम पर करोडो की ठगी करने वाले कुख्यात ठगो को बजरिया पुलिस ने किया के गिरफ्तार

भोपाल : दिनांक 15 जनवरी 2020- पुलिस उप महानिरीक्षक भोपाल शहर श्री इरशाद वली द्वारा अवैध काम कर धन उपार्जन करने वाले बेरोजगार युवको को नौकरी के नाम पर ठगने वाले ठगो की गिरफ्तारी हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये जिसके तारतम्य में पुलिस अधीक्षक दक्षिण भोपाल श्री सम्पत उपाध्याय, अ0पु0अ0 (जोन-01) श्री अखिल पटेल, (जहां0बाद संभाग) श्री अलीम खान द्वारा थाना प्रभारी स्टेशन बजरिया सुधेश तिवारी को आवश्यक निर्देश दिये गये ।

सम्पूर्ण घटना का संक्षिप्त विवरणः- थाना प्रभारी स्टेशन बजरिया सुधेश तिवारी को सूचना प्राप्त हुई कि कुछ लडके ठगी के शिकार हुए है जिसमे कुछ बजरिया क्षेत्र के भी है जिनका पता कर उनसे बातचीत की गई तो उन्होने पुरी स्थिति बताई पुलिस द्वारा निडर होकर आरोपीयो के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही का आश्वासन प्राप्त करने के बाद दिंनाक 14.01.2020 को फरियादी गोपाल सिह ठाकुर नि0 कृष्णा नगर स्टेशन बजरिया भोपाल द्वारा थाना उपस्थित आकर आरोपी सुधीर दोहरे एवं उसके साथीगण राजेश दौहरे, नि0 नेहरू नगर , संतोष गुहा, नि0 खंजाची बाग, अमित उर्फ पिंटू, नि0 राजेन्द्र नगर , संतोष हलवाई नि0 द्वारका नगर ,माणिक माठे नि0 मुम्बई दिलीप नि0 द्वारका नगर व अन्य साथियो के साथ मिलकर रेल्वे में नौकरी लगाने के नाम पर झांसा देकर 12 लाख 50 हजार रूपये लेकर ठगी करने की रिपोर्ट की रिपोर्ट पर प्रकरण क्र 19/20 धारा 420,467,468,471 भादवि का प्रकरण थाना स्टेशन बजरिया में पंजीबध्द किया गया ।

पुलिस द्वारा आरोपी की गिरफ्तारी एवं पूछताछ :- प्रकरण पंजीबध्द होने के पश्चात थाना स्टेशन बजरिया पुलिस द्वारा आरोपी सुधीर दोहरे की तलाश की गई तब विशेष सूत्रो से पता चला कि सुधीर दोहरे अपने निवास से 80 फिट रोड तरफ अपनी एक्सयूबी 500 क्र जीजे 01 आरडब्ल्यू 5020 ग्रे रंग से कही जा रहा है सूचना पर त्वरित कार्यवाही कर एक्सयूबी से जाते हुए राजेश दोहरे एवं सुधीर दोहरे को पकडा जो हाथ में कुछ रेल्वे भर्ती के लिफाफे लिये था। रेल्वे के फार्म, रेल्वे में भर्ती के संबध में अन्य दस्तावेज , प्रिंटर लेपटॉप ,सीले स्वयं के घर अवन्तिका कालोनी गुफा मंदिर रोड लालघाटी घर पर होना बताया। आरोपी को लेकर तत्काल आरोपी के घर पहुचां जहां रेल्वे में रेल्वे भर्ती के दस्तावेज, आवेदन पत्र, पोस्टल आर्डर,भर्ती, सूचना, चरित्र सत्यापन, मेडिकल प्रमाण पत्र संबधित जिले के लिये वेरिफिकेशन पत्र व अन्य प्रपत्र जिनकी संख्या करीब 20 हजार होगी बरामद किये । आरोपी से विस्तृत पूछताछ की गई जिसने अपना जुर्म स्वीकार किया व बताया कि वर्ष 1997 में पुलिस मे ंनौकरी करता था तथा इसी प्रकार की ठगी करने के कारण वर्ष 2009 में नौकरी से वर्खास्त कर दिया था । इसके बाद अपने साथियो के साथ मिलकर बेरोजगारो को नौकरी देने के नाम पर लगातार ठगी कर रहा था । रेल्वे में टिकट कलेक्टर बनाने के नाम पर 15 लाख रूपये व अस्सिटेंट स्टेशन मास्टर बनाने के नाम पर करीब 25 लाख रूपये की ठगी करता था। आधा पैसा पहले व आधा पैसा ज्वाइंनिंग के बाद लेता था। इसमें इसके साथी भी शामिल थे जो कि इस कार्य में उसकी सहायता करते थे। ठगी के पैसो का बजरिया क्षेत्र का सूचिबध्द गुण्डा अमित उर्फ पिंटू मारकेण्य जिस पर करीब दो दर्जन प्रकरण पंजीबध्द है। जो अर्जित धन को अधिक दर पर ब्याज पर बांट कर वसूली करता था। इस गैंग के द्वारा करीब 90 से 100 करोड रूपये की वसूली की गई जिससे आरोपीयो के द्वारा स्वयं के नाम से, पत्नि के नाम पर व रिश्तेदारो के नाम पर संपत्तियां खरीदी गई एवं लक्जरी गाडियां खरीदी गई है जिसकी प्रथक से जॉच की जावेगी। आरोपी द्वारा बेरोजगारो को चिन्हित कर उनसे पोस्टल आर्डर भरवाना, प्रश्न पत्र व उत्तरपुस्तिका भरवाना, रोल नम्बर इश्यू करना , रेल्वे के ज्वाईनिंग फार्म भरवाना, रेल्वे हास्पिटल से मेडिकल भरना, जिला कलेक्टर के माध्यम से थानो में वेरिफिकेशन कराना, सेवा पुस्तिका भरना, चयन लिस्ट जारी करना, ट्रेनिंग के पत्र जारी करना, , ट्रेनिंग के लिये भुसावल भेजना , रेल्वे के परिचय पत्र जारी करना, राजेश दोहरे के अकांउट के माध्यम से अभ्यर्थी के खातो में सैलरी भेजने का कार्य बखूबी किया जाता था। जब सैलरी मिलना बंद हो गई। जब सैलरी मिलना बंद हो गई तो आवेदक गोपाल सिह ठाकुर को शक हुआ पैसे वापसी के लिये दबाब बनाया । फरियादी के अतिरिक्त भी अन्य अभ्यर्थियो द्वारा पैसे वापसी हेतु दबाब बनाया जाता था तब आरोपी द्वारा पूर्व मे कोरे स्टाम्प पर धाखाधडी से कराये गये हस्ताक्षर पर स्वयं के पैसे वापस देने के संबध में प्रिंट कर दिया जाता था एवं भुसावल एवं अन्य स्थान की पुलिस द्वारा लडको को पकडवाकर उनकी जिंदगी बर्बाद की जाने की धमकी दी जाकर रिपोर्ट न करने संबधीत दबाब डाला जाता था जिससे भयभीत होकर अभ्यर्थी रिपोर्ट करने से डरते थे।

सराहनीय कार्य – थाना स्टेशन बजरिया की टीम में मुख्यतः थाना प्रभारी सुधेश तिवारी के अतिरिक्त, सउनि साबिर खान, प्रआर कमलेश, आर0 लक्ष्मण तोमर, आर. मनोज शिवडे , आर राधेश्याम ,आर. जावेद, आर किशोर परतेती, आर0 विनिता धाकड का सराहयनीय कार्य रहा है। उपरोक्त कार्यवाही में वरिष्ठ अधिकारियो द्वारा काफी सराहना की गई।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s