भोपाल / कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल समर्थकों के साथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे, विधानसभा की बैरिकेडिंग फांदकर मुख्य द्वार पर पहुंचे

ग्वालियर के कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल बैरिकेडिंग पर चढ़ गए।

ग्वालियर के कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल बैरिकेडिंग पर चढ़ गए।

कहा- किसी से नाराज नहीं, लेकिन जिस क्षेत्र ने मुझे चुना, उसके प्रति जिम्मेदारी हैमुख्यमंत्री कमलनाथ को चिट्ठी लिखकर धरने पर बैठने की घोषणा की थीलिखा था-भूमिहीन परिवारों के आशियानों पर ठंड में बुल्डोजर चलते नहीं देख सकता

भोपाल. कांग्रेसविधायक मुन्नालाल गोयल शनिवार को अपनी ही सरकार से नाराज होकर विधानसभा के मुख्यगेट के पास धरने पर बैठ गए। सुबह 11 बजे वह समर्थकों के साथ विधानसभा पहुंचे। यहां गोयलसमर्थकों के साथ विधानसभा कीबैरिकेडिंग गेट से ऊपर चढ़े और फांदकरगांधीजी की प्रतिमा तक पहुंचे। गोयल सिंधिया समर्थक विधायक माने जाते हैं।

गोयल ने कहा किकांग्रेस सरकार अपने वचनपत्र में शामिल वादेपूरा नहीं कर रही है। इसलिए मैं धरनादेने के लिए मजबूर हुआ हूं।उन्होंने कहा कि न मैं मुख्यमंत्री से नाराज हूंऔर न ही अन्य किसी मंत्री से। मैं चाहता हूं कि कांग्रेस ने वचन पत्र में किए गए वादों को पूरा किया जाए।

सरकार की कार्यप्रणाली से उनके विधायक खुश नहीं : भार्गव
नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने ग्वालियर विधायक मुन्नालाल गोयल के धरने पर तंज किया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में गूंगी बहरी सरकार विपक्ष और जनता तो दूर अब अपने ही विधायकों की नहीं सुन रही है। विधायक सुनीता पटेल और अब मुन्नालाल गोयल मुख्यमंत्री कमलनाथ जी को वचन याद दिला रहे हैं। यह इस बात का प्रमाण है कि सरकार से कार्यप्रणाली से उसके ही विधायक भी खुश नहीं है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं का अपमान हाेते देख रहा हूं

इससे पहले गोयल ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री कमलनाथ को चिट्ठी लिखकर धरने पर बैठने की घोषणा की थी। उन्होंने लिखा था कि सत्तादल का विधायक बनने के बाद अपने क्षेत्र के भूमिहीन परिवारों के आशियानों पर ठंड में बुल्डोजर चलते देख रहा हूं।प्रशासन के अधिकारियों से कांग्रेस कार्यकर्ता का अपमान होते देख रहा हूं। अब इसे नहीं देख सकता हूं।

ग्वालियर में 1200 गरीब भूमिहीनों को पट्टा नहीं मिला
गोयल ने कहा किवे इस मांग पर भी अडिग हैं कि विधायकों की समस्याओं के निराकरण के लिए 15 दिन में एक बार प्रत्येक संभाग के विधायकों को बुलाकार विकास कार्यों की समीक्षा की जाना चाहिए।
गाेयल ने कहा कि कल पत्र लिखने के बाद उनसे अभी तक किसी ने संपर्क नहीं किया है। लेकिन उम्मीद है कि आगामी 8-10 दिन में कोई सकारात्मक कदम उठाया जाएगा। विधायक गोयल ग्वालियर में पिछले 20 वर्षों से निवास कर रहे 1200 गरीब भूमिहीन परिवारों को पट्टा नहीं मिलने से नाराज हैं। उन्होंने कहा कि ये गरीब जहां रहते हैं, वहां पर प्रशासन ठंड में बुलडोजर चला रहा है।

आप पर काम का बोझ है इसे महसूस करता हूं
गोयल ने पत्र में लिखा था कि”मुख्यमंत्री के रूप में आप पर काम के बोझ को मैं महसूस करता हूं। आपको विधायकों से मिलने का समय नहीं है,लेकिन जिस जनता ने मुझे विधायक चुना है, उसके हितों का ख्याल रखना मेरा फर्ज है। पिछले छह माह में मुख्यमंत्री से लेकर संबंधित मंत्रियों को कई बार पत्र दे चुका हूं। लेकिन समस्याएं जस की तस हैं।” उन्होंने आगे कहा था कि आपको जगाने के लिए 17-01-2020 के विधानसभा सत्र की कार्यवाही का बहिर्गमन किया है।

गोयल अपने समर्थकों के साथ यहां पहुंचे हैं। उन्होंने 11 बजे से धरना शुरू किया।

गोयल अपने समर्थकों के साथ यहां पहुंचे हैं। उन्होंने 11 बजे से धरना शुरू किया।

विधानसभा के मुख्य द्वार के सामने गांधीजी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठ गए।

विधानसभा के मुख्य द्वार के सामने गांधीजी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठ गए।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s