आजादी के बाद पहली बार मुंबई की सड़कों पर दिखेगी घुड़सवार पुलिस

महाराष्ट्र (Mahrashtra) के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil DeshMukh) ने बताया कि अगले छह महीनों में यूनिट में एक उप-निरीक्षक, एक सहायक पीएसआई, चार हवलदार और 32 कांस्टेबल के अलावा 30 घोड़े शामिल होंगे.

दिल्ली चुनाव: BJP और LJP में बातचीत जारी, 1 सीट पर चुनाव लड़ सकती है एलजेपी

मुंबई.  महाराष्ट्र (Maharashtra) के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने रविवार को कहा कि इस साल शिवाजी पार्क (Shiva Ji Park) में गणतंत्र दिवस (Republic day 2020) की परेड के बाद मुंबई (Mumbai) को यातायात और भीड़ नियंत्रण के लिए माउंटेड पुलिस यूनिट (Mounted Police Unit) मिलेगी. इस टुकड़ी में जवानों को घोड़ों के साथ ड्यूटी पर तैनात किया जाएगा. देशमुख ने कहा कि यह पुलिस इकाई महानगर की सड़कों पर गश्त करेगी. साल 1932 में बढ़ते वाहनों के कारण बंद यह यूनिट बंद हो गई थी.

उन्होंने कहा कि ‘आज मुंबई पुलिस के पास आधुनिक जीप और मोटरसाइकिल हैं. लेकिन भीड़-भाड़ वाले इलाकों में पुलिस की गश्त के लिए एक माउंटेड यूनिट उपयोगी होगी. ऐसे में आजादी के बाद पहली बार मुंबई में पुलिस यूनिट लगाई जाएगी.’

‘घोड़े पर एक पुलिसकर्मी, जमीन पर मौजूद 30 जवानों के बराबर’

देशमुख ने कहा कि ‘त्योहारों और मार्च के दौरान भीड़ नियंत्रण के लिए यूनिट में घोड़ों का इस्तेमाल किया जा सकता है. समुद्र तटों पर भी अच्छी नजर रख सकते हैं.’ देशमुख ने दावा किया कि ‘घोड़े पर एक पुलिसकर्मी, जमीन पर मौजूद 30 जवानों के बराबर है.’

उन्होंने कहा कि यूनिट को पुणे और नागपुर जैसे शहरों में भी लागू कर सकते हैं. अगले छह महीने के भीतर यूनिट में एक सब-इंस्पेक्टर के अलावा 30 घोड़े, एक सहायक PSI, चार हवलदार और 32 कांस्टेबल शामिल होंगे. देशमुख ने बताया कि ‘फिलहाल 13 घोड़े खरीदे गए हैं और बाकी अगले छह महीनों में खरीदे जाएंगे. मरोल में 2.5 एकड़  पर अस्तबल बनाया जाएगा.’

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.