पवित्रता व एकता संगठन में सफलता का मूल मंत्र

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के संस्थापक ब्रह्मा बाबा की 51वीं पुण्यतिथि विश्व शांति दिवस के…

Mandsour News - mp news purity and unity are the key to success in the organization

Jan 20, 2020, प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के संस्थापक ब्रह्मा बाबा की 51वीं पुण्यतिथि विश्व शांति दिवस के रूप में मनाई। विश्व के 140 देशों में विस्तारित साढ़े आठ हजार से भी अधिक सेवाकेंद्रों पर आयोजन किया। तलेरा विहार कॉलोनी स्थित आत्मकल्याण भवन में वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी समिता दीदी ने कहा कि पिताश्री ब्रह्मा बाबा द्वारा ने 1936 में नारी सशक्तिकरण शुरू किया था। इससे नारी शक्ति नहीं बल्कि वर्तमान में शिव शक्ति बनकर संपूर्ण विश्व में व्याप्त बुराइयों का संहार कर शांति स्थापना के निमित्त बनी हैं। ब्रह्मा बाबा सभी को नि:स्वार्थ भाव से कहते हैं कि आप सभी का लक्ष्य और लक्षण, कथनी और करनी एक सामान होने चाहिए। जो कर्म मैं करूंगा, मुझे देख दूसरे स्वतः ही करेंगे। आपकी मुख्य शिक्षा देह, अभिमान, अहंकार को समाप्त कर आत्म अभिमान, आत्म चिंतन द्वारा अपनी जांच कर बेदाग हीरा बनना है। पवित्रता और एकता संगठन में सफलता के लिए आपका मूल मंत्र था। यदि पवित्रता में कमी है तो एकता में भी कमी अवश्य होगी। पवित्रता सिर्फ ब्रह्मचर्य को ही नहीं कहा जाता, हमारे संकल्प, स्वभाव और संस्कारों में शुद्धता ही संपूर्ण ब्रह्मचर्य है। आपके तपोबल द्वारा आप हरेक मनुष्यात्मा के चलन रूपी दर्पण में कर्म कहानी को स्पष्ट देख लेते थे। ब्रह्मा बाबा को स्पष्ट था कि हमारे विचार प्रकृति के पांचों तत्वों तक पहुंचते हैं इसलिए सदा श्रेष्ठ संकल्पों की रचना करनी है।

Mandsour News - mp news purity and unity are the key to success in the organization

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s