सागर में बनी 17 किलोमीटर लंबी तिरंगा मानव श्रृंखला

शहर में रविवार काे 17.135 किलोमीटर लंबी तिरंगा मानव श्रृंखला बनाई गई। चकराघाट अाैर मकरोनिया दाे अलग-अलग छाेराें से…

Sagar News - mp news 17 km long tricolor human chain built in the ocean

Jan 20, 2020, शहर में रविवार काे 17.135 किलोमीटर लंबी तिरंगा मानव श्रृंखला बनाई गई। चकराघाट अाैर मकरोनिया दाे अलग-अलग छाेराें से शुरू हुई इस तिरंगा मानव श्रृंखला में शहर की 200 से अधिक संस्थाओं के लाेगाें की इसमें सहभागिता का दावा किया जा रहा है।

विवि स्थित गाैर समाधि परिसर में इसका समापन हुअा। सुबह 7.30 बजे से 12.30 बजे तक बनाई गई इस मानव श्रृंखला के समापन के माैके पर वर्ल्ड बुक रिकॉर्ड यूके द्वारा विचार समिति अाैर मेरी शान तिरंगा मूवमेंट कुणाल दिदवानिया जयपुर राजस्थान के नाम पर सागर में 17.135 किमी लंबी तिरंगा मानव श्रृंखला बनाने का सर्टिफिकेट भी दिया गया। वर्ल्ड बुक अाॅफ रिकॉर्ड के प्रतिनिधि डाॅ. दिवाकर मिश्रा ने कपिल मलैया, कुणाल दिदवानिया, सागर विवि के कुलपति प्राे. अारपी तिवारी की मौजूदगी में सर्टिफिकेट दिया।

दाे स्थानाें से शुरू हाेकर श्रृंखला विवि में हुई संपन्न

तिरंगा यात्रा दो स्थानों से शुरू हुई। चकराघाट से शुरू हाेकर तीनबत्ती, मस्जिद, परकोटा, तीन मढ़िया, दीनदयाल चौक, संजय ड्राइव, मेडिकल कॉलेज, तिली तिराहा, रिमझिरिया, विवि घाट राेड क्रमांक-2 से गाैर समाधि परिसर पहुंची। वहीं दूसरे छाेर से यात्रा मकरोनिया बटालियन गेट से शुरू हाेकर हॉक केंटीन, सिविल लाइन चौराहा, डीजे बंगला, कालीचरण चौराहा से विवि मार्ग हाेते हुए गौर समाधि पर पहुंची।

ये संस्थाए हुईं प्रमुख रूप से शामिल: मुख्य संगठक नितिन पटैरिया ने बताया कि धर्म रक्षा संगठन, सकल जैन समाज, रोटरी क्लब, लायन्स क्लब, जैन मिलन, सर्व ब्राह्मण समाज संगठन, पूज्य सिंधी पंचायत, उपनगरीय विकास समिति मकरोनिया, सागर युवा संस्था, वैश्य महासम्मेलन, स्वर्णकार समाज, विश्वकर्मा समाज, इंजीनियर फोरम, गायत्री परिवार, ईसाई समाज, अहिरवार महापंचायत, जैन सोशल, अपनत्व सेवा समिति, सहित 200 से अधिक संस्थाएं संगठन शामिल हुए। पुलिस, होमगार्ड, एनसीसी, स्काउट, शासकीय, अर्धशासकीय एवं स्वयंसेवी संस्था के सदस्याें ने भी भाग लिया।

200 संस्थाएं शामिल होने का दावा

कहीं-कहीं तिरंगे का सम्मान आहत

चंद्रा पार्क रोड: बैनर पोस्टर की तरह खंभों पर टांग दिया

कहीं झाड़ियों में फटा तो कहीं जमीन पर दिखा

परकोटा रोड: नमकीन की दुकान में उल्टा बांध दिया

दावे पर सवाल, तिरंगा अागे बढ़ता गया पीछे से सिमटता गया, कई जगह श्रृंखला टूटी, लोग तिरंगा छोड़ चलते बने

17 किलोमीटर लंबी तिरंगा यात्रा निकालने के दावे पर सवाल भी उठ रहे हैं। कहा जा रहा है कि एक ही समय में 17 किलोमीटर के दायरे में तिरंगा कभी रहा ही नहीं। क्योंकि जैसे-जैसे तिरंगा लिए रथ अागे बढ़ रहा था ताे कई जगहों पर कुछ दूर से ही पीछे से उसे समेटने का काम भी चल रहा था। अायाेजक दावा कर रहे हैं कि 7.30 से 12.30 बजे तक यह मानव श्रृंखला बनाई गई। जबकि स्थिति यह थी कि सुबह 12.39 बजे जब सिविल लाइन में पम्मा साहू कॉॅम्प्लेक्स में तिरंगा मकरोनिया से समेटकर अा चुका था, वहीं 12.49 बजे विवि स्थित गाैर समाधि से करीब 300 मीटर पहले गाैर मूर्ति के पास ही तिरंगे का एक छाेर पहुंच पाया था। गाैर समाधि पर यह छाेर 12.52 बजे पहुंचा। एेसे में दाेनाें छाेराें के मिलने के पहले ही तिरंगा सिमट गया था। इसी प्रकार कई जगह बीच-बीच में काेई खड़ा ही नहीं था। एेसे में तिरंगा कहीं रेलिंग पर लटका कर लाेग छाेड़ गए ताे कहीं यह जमीन में घिसटता रहा।

Sagar News - mp news 17 km long tricolor human chain built in the ocean
Sagar News - mp news 17 km long tricolor human chain built in the ocean
Sagar News - mp news 17 km long tricolor human chain built in the ocean
Sagar News - mp news 17 km long tricolor human chain built in the ocean

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s