shahdol :- कांग्रेसी जिला पंचायत अध्यक्ष ने अधिकारियों पर लगाए अवैध कारोबार में संलिप्त रहने का आरोप : sulekha kushwaha shahdol,

शहडोल । जिले में रेत के कारोबार को लेकर प्रशासन और जनप्रतिनिधियों में टकराव की स्थिति निर्मित हो रही है। सोमवार को प्रेस वार्ता कर जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी ने आरोप लगाया है कि जिले में रेत का अवैध कारोबार कुछ प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत से चल रहा है। पंचायत को मिली खदानों को माफिया चला रहे हैं। उन पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं हो रही। इस संबंध में वे जल्द ही प्रदेश के मुख्यमंत्री से बात करेंगे। उन्होंने बताया कि रविवार को वे अपने नियमित भ्रमण के तहत सोन टोला गए थे। यहां सरपंच और सचिव से रेत की रॉयल्टी के संबंध बात की गई तो उन्होंने बताया कि कोई और पर्ची काटता है। वहां से गुजर रहे वाहन चालकों से पूछा तो उन्होंने बताया कि दो हजार रुपए की रॉयल्टी कट रही है। इस बीच करीब एक दर्जन असमाजिक तत्व वहां पहुंच गए और उनके साथ अभद्रता करने लगे। जब उन्होंने इस संबंध में कलेक्टर को फोन लगाया तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया। उनका फोन भी नहीं आया। इसके बाद एसपी को फोन किया तो उन्होंने कहा कि तत्काल फोर्स भेजता हूं। हालांकि हमारे वहां से निकलने के बाद फोर्स पहुंची। जिला कांग्रेस अध्यक्ष आजाद बहादुर सिंह ने इस घटना को शर्मनाक बताते हुए हुए जिला प्रशासन से खदान को निलंबित कर मामले की जांच कराने और जिले में महंगी बिक रही रेत की कालाबाजारी बंद कराने के लिए कहा है। प्रेस वार्ता के दौरान जिला पंचायत सदस्य तेज प्रताप उइके, बुढ़ार जनपद अध्यक्ष ललन सिंह और कांग्रेस प्रवक्ता दिनेश अग्रवाल व हुसैन अली भी मौजूद थे।
गोहपारू थाने में जिला पंचायत अध्यक्ष ने की शिकायत
जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी ने सोमवार को गोहपारू थाने में शिकायत भी दर्ज कराई है। शिकायत में कहा गया है कि रविवार को सोनटोला में उनके साथ और जिला पंचायत के अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ करीब एक दर्जन आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों ने अभद्रता की है। इसमें यह भी कहा गया है कि सोन टोला और आसपास के क्षेत्र में रेत के अवैध कारोबार में संलिप्त अपराधी तत्वों के खिलाफ जल्द से जल्द कड़ी कार्रवाई की जाए, नहीं तो कभी भी गंभीर वारदात हो सकती है। इस संबंध में गोहपारू थाना प्रभारी चिन्मय मिश्रा का कहना है कि जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र मरावी शिकायत देकर गए हैं। इसकी जांच की जा रही है।
मेरे पास कोई फोन नहीं आया
मुझे बताकर तो नहीं गए थे जिला पंचायत अध्यक्ष। न ही मेरे पास किसी तरह की सूचना आई थी। उनका फोन भी मेरे पास नहीं आया था। अगर वे आरोप लगा रहे हैं कि प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत से रेत का अवैध करोबार हो रहा है, तो वे प्रमाण सहित लिखित में शिकायत दें, मैं जांच करवाने को तैयार हूं। इस तरह किसी पर आरोप लगा देना सही नहीं है। उनका रुख किस तरफ है, मुझे इसकी जानकारी नहीं है।
-ललित दाहिमा, कलेक्टर शहडोल
थाना प्रभारी मौके पर गए थे
जिला पंचायत अध्यक्ष का फोन आया था, उन्होंने कहा था सोन टोला खदान से बिना रायॅल्टी पर्ची के रेत निकाली जा रही है, जिससे राजस्व का नुकसान हो रहा है। बोलने पर कुछ लोग अकड़ दिखा रहे हैं। मैंने उनसे थाना प्रभारी को तत्काल भेजने की बात कही थी। साथ ही कहा था कि टीपी के संबंध में खनिज विभाग के अधिकारियों को भी बुला लीजिए। कुछ देर बाद ही थाना प्रभारी बल के साथ वहां पर पहुंच गए थे।
-अनिल सिंह कुशवाह, पुलिस अधीक्षक

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s